अपने देश के सफल क्रिकेटरों से सबक लें आस्ट्रेलियाई उद्योगपति: कोविंद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 22, 2018   20:18
अपने देश के सफल क्रिकेटरों से सबक लें आस्ट्रेलियाई उद्योगपति: कोविंद

भारत और आस्ट्रेलिया के बीच चल रही मौजूदा क्रिकेट श्रृंखला के बीच राष्ट्रपति कोविंद ने बृहस्पतिवार को कहा कि दोनों ही देशों में क्रिकेट को लेकर दीवानगी एक जैसी है।

मेलबर्न। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आस्ट्रेलिया की अपनी यात्रा में बुधवार को कारोबार की तुलना क्रिकेट के खेल से करते हुए आस्ट्रेलियायी उद्यमियों को भारतीय पिच पर (बाजार में) उतरने और इस मामले में अपने देश के क्रिकेट खिलाड़ियों से सीख लेने की सलाह दी। उन्होंने स्थानीय उद्यमियों से कहा कि आस्ट्रेलियायी खिलाड़ियों ने भारतीय पिच पर खूब सफलता हासिल की है, ‘‘आइए आप के लिए भी पिच तैयार है।’’ 

भारत और आस्ट्रेलिया के बीच चल रही मौजूदा क्रिकेट श्रृंखला के बीच राष्ट्रपति कोविंद ने बृहस्पतिवार को कहा कि दोनों ही देशों में क्रिकेट को लेकर दीवानगी एक जैसी है। भारत और आस्ट्रेलिया के बीच मेलबर्न में दूसरे 20-ट्वेंटी मैच की पूर्व संध्या पर सिडनी में कारोबारी समुदाय को संबोधित करते हुए कोविंद ने कहा कि ‘‘भारत और आस्ट्रेलिया में क्रिकेट और कई अन्य चीजों को लेकर उत्साह एक जैसा है।’’

आस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्काट मारिसन की मौजूदगी में उन्होंने कहा, ‘‘आस्ट्रेलियाई टीम जब भारत में खेलती है, उस स्थिति को छोड़कर कई क्रिकेट प्रेमी भारतीयों के लिये आस्ट्रेलिया सबसे पसंदीदा टीम है। खासकर एसेश (इंग्लैंड-आस्ट्रेलिया टेस्ट) श्रृंखला के समय यह यह विशेष रूप से देखा गया है।’ कोविंद ने कहा कि दोनों देश लोकतंत्र, बहुलवाद और मानवीय सम्मान के मूल्यों को समान रुप से महत्व देते हैं। 

राष्ट्रपति ने यह भी रेखांकित किया कि भारत और आस्ट्रेलिया दोनों मुक्त और खुले और नियम आधारित भारत-प्रशांत क्षेत्र की शांति और समृद्धि के लिये भी साझा विचार रखते हैं। स्पष्ट रूप से उनका इशारा चीन की ओर था जो क्षेत्र में अपना दबदबा बनाने के लिये ताकत का उपयोग कर रहा है। क्रिकेट के विषय पर लौटते हुए कोविंद ने कहा कि भारत में निवेश पर विचार कर रहे आस्ट्रेलियाई व्यापारियों और निवेशकों को भारतीय पिचों पर अपने क्रिकेटरों की सफलता से सीख लेनी चाहिए। 

उन्होंने यह भी कहा, ‘‘क्रिकेट जीवन के लिये अनुकरणीय है। मुझे लगता है कि यह व्यापार के लिये भी अनुकरणीय है। आस्ट्रेलियाई उद्योगपतियों तथा निवशकों को क्रिकेटरों के तौर-तरीकों से सीखने की जरूरत है।’’ कोविंद ने कहा, ‘‘भारत में सर्वाधिक सफल आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज वे रहे हें जिन्होंने धैर्य दिखाया, स्थिति को सावधानीपूर्वक भांपा, लंबे समय तक टिके, भरोसेमंद भागीदारी बनायी और स्पिन के चक्कर में नहीं फंसे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आप भारत आइये। पिच तैयार है।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...