तमिलनाडू के मुख्यमंत्री ने 2,368 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का किया शिलान्यास

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 28, 2020   17:13
तमिलनाडू के मुख्यमंत्री ने 2,368 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का किया शिलान्यास

विज्ञप्ति में कहा गया है कि मुख्यमंत्री ने जिन परियोजनाओं का शिलान्यास किया है उनमें 1,500 करोड़ रुपये की परियोजना इंटरनेशनल टेक पार्क चेन्नई (आईटीपीसी) और 350 करोड़ रुपये के निवेश वाली कुड्डलोर सिपकोट औद्योगिक पार्क में लगने वाली टाटा केमिकल्स की सिलिका मैन्युफैक्चरिंग इकाई शामिल है।

चेन्नई। तमिलनाडू के मुख्यमंत्री के पलानिस्वामी ने राज्य में लगने वाली आठ नई औद्योगिक परियोजनाओं का मंगलवार को शिलान्यास किया। इन नई परियोजनाओं में 2,368 करोड़ रुपये का निवेश होने का अनुमान है। एक आधिकारिक विज्ञप्ति में इसकी जानकारी दी गई। मुख्यमंत्री ने इससे पहले सोमवार को 11 पूरी हो चुकी परियोजनाओं का भी उद्घाटन किया। इनमें 3,185 करोड़ रुपये का निवेश हुआ है।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि मुख्यमंत्री ने जिन परियोजनाओं का शिलान्यास किया है उनमें 1,500 करोड़ रुपये की परियोजना इंटरनेशनल टेक पार्क चेन्नई (आईटीपीसी) और 350 करोड़ रुपये के निवेश वाली कुड्डलोर सिपकोट औद्योगिक पार्क में लगने वाली टाटा केमिकल्स की सिलिका मैन्युफैक्चरिंग इकाई शामिल है। इन कंपनियों ने कुल 2,368 करोड़ रुपये के निवेश की प्रतिबद्धता जताई है और इनमें 24,870 लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है। 

इसे भी पढ़ें: तमिलनाडु में कोरोना के 6,993 नये मामले, एक दिन की सर्वाधिक संख्या

वहीं, आटोमोबाइल सहित विभिन्न क्षेत्रों के कारोबार वाली जिन 12 परियोजनाओं का काम पूरा हुआ है, उनमें 3,185 कराड़ रुपये का निवेश किया गया है और इनमें 6,966 लोगों के लिये रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। विज्ञप्ति के अनुसार जिन 8 परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया है उनमें से कम से कम छह के लिये राज्य में 2019 में हुये वैश्विक निवेशक सम्मेलन में समझौता किया गया था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।