तमिलनाडु सरकार का बड़ा फैसला, चेन्नई, मदुरै में पांच जुलाई तक जारी रहेंगे कड़े प्रतिबंध

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 30, 2020   10:36
तमिलनाडु सरकार का बड़ा फैसला, चेन्नई, मदुरै में पांच जुलाई तक जारी रहेंगे कड़े प्रतिबंध

चेन्नई, मदुरै और इन दोनों शहरों के आसपास के क्षेत्रों के लिए छह जुलाई से प्रतिबंधों में ढील दी जाएगी। राज्य के अन्य हिस्सों में मौजूदा ढील और प्रतिबंध 31 जुलाई तक जारी रहेंगे। राज्य सरकार का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा, अंतरराज्यीय बस परिवहन, मेट्रो और उपनगरीय रेल, सामाजिक समारोहों, राजनीतिक, जुलूसों पर प्रतिबंध जारी रहेगा।

चेन्नई। तमिलनाडु सरकार ने कहा कि चेन्नई और मदुरै में पांच जुलाई तक कड़े प्रतिबंध जारी रहेंगे जबकि शेष राज्य में मौजूदा पांबदियां और ढील 31 जुलाई तक लागू रहेगी। स्कूल, कॉलेज, मॉल, रिजॉर्ट, लॉज, सिनेमा हॉल और बार अभी बंद रहेंगे तथा नगरीय क्षेत्रों में धार्मिक सभाओं और कार्यक्रमों पर रोक है। आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया कि नीलगिरि, कोडईकनाल और येरकाउड जैसे पर्यटनों स्थलों में गैर-निवासियों के लिए और पर्यटन उद्देश्य के लिए यात्रा की अनुमति नहीं है। इसमें कहा गया कि चेन्नई, मदुरै और इन दोनों शहरों के आसपास के क्षेत्रों के लिए छह जुलाई से प्रतिबंधों में ढील दी जाएगी। 

इसे भी पढ़ें: तमिलनाडु में 31 जुलाई तक लागू रहेगा लॉकडाउन, चेन्नई और मदुरै में जारी रहेंगे प्रतिबंध

राज्य के अन्य हिस्सों में मौजूदा ढील और प्रतिबंध 31 जुलाई तक जारी रहेंगे। राज्य सरकार का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा, अंतरराज्यीय बस परिवहन, मेट्रो और उपनगरीय रेल, सामाजिक समारोहों, राजनीतिक, सांस्कृतिक, मनोरंजन और खेल की घटनाओं और जुलूसों पर प्रतिबंध जारी रहेगा। स‍ंक्रमण के प्रसार दर समीक्षा करने के बाद प्रतिबंधों में ढील देने को लेकर निर्णय लिया जाएगा। छह जुलाई से प्रतिबंधों में ढील के साथ ही चेन्नई और मदुरै में आवश्यक बिक्री वाले दुकानों को खुलने के समय में भी बढ़ोतरी करेंगे यह 31 जुलाई तक लागू रहेंगे। शादी समारोह और अंतिम संस्कार में 50 से अधिक लोगों को इकट्ठा होने की अनुमति नहीं है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।