देश को दहला देने वाली तमिलनाडु पुलिस की दरिंदगी की होगी अब CBI जांच

देश को दहला देने वाली तमिलनाडु पुलिस की दरिंदगी की होगी अब CBI जांच

पुलिस हिरासत में हुई पिता और बेटे की मौत ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है। विवाद के राष्ट्रीय स्तर पर बढ़ने के बाद अब तमिलनाडु सरकार इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपेगी। बता दें कि राज्य सरकार इस मामले को सौंपने से पहले मद्रास उच्च न्यायालय से इजाजत लेगी फिर सीबीआई को ट्रांसफर कर देगी।

तमिलनाडु (tamilnadu) के तूतीकोरिन में पुलिस द्वारा प्रताड़ित करने के कारण एक पिता और बेटे की मौत हो गई। पिता जयराज (59) और उनके बेटे बेनीक्स (31) की मौत के बाद लोगों ने पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। जयराज की पत्नी के मुताबिक उनके पति और बेटे को पुलिस हिरासत में काफी यातनाएं दी गईं थी जिससे उनकी मौत हो गई।

 

सीबीआई(CBI) जांच होगी

पुलिस हिरासत में हुई पिता और बेटे की मौत ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है। विवाद के राष्ट्रीय स्तर पर  बढ़ने के बाद अब तमिलनाडु सरकार इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपेगी। बता दें कि राज्य सरकार इस मामले को सौंपने से पहले मद्रास उच्च न्यायालय  से इजाजत लेगी फिर सीबीआई को ट्रांसफर कर देगी। मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी (K Palaniswami) के मुताबिक ये विवाद काफी गंभीर है जिसको देखते हुए सरकार ने ये निर्णय लिया है। बता दें कि बढ़ते विवाद को देखते हुए इस मामले से सबंधित चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही सरकार ने पिता और बेटे के परिवार को 25 लाख रुपये के अतिरिक्त मुआवजा देने की बात की है। जानकारी के मुताबिक मृत्य पिता और बेटे की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने से पहले ही ये घोषण कर दी गई थी की पिता की मौत किसी बीमारी से और बेटे की मौत सांस न लेने के कारण हुई है। सरकार पर ये भी सवाल उठाएं जा रहे है कि अगर ये एक नैचुरल डेथ थी तो मुआवजे देने की जरूरत क्यों पड़ी? 

इसे भी पढ़ें: पहले से ज्यादा बड़ी दिखेंगी बस और ट्रक, वाहनों की लंबाई-ऊंचाई बढ़ाने को सरकार ने दी मंजूरी

 क्या कहती है डॉक्टर की रिपोर्ट

कोविलपट्टी उप-जेल अस्पताल से मिली डॉक्टर की रिपोर्ट के मुताबिक पिता और बेटे को पुलिस हिरासत में काफी अपमानित किया गया और शारिरिक यातानाएं दी गई थी जिससे उनकी मौत हो गई। दोनों के शरीर पर चोट के कई निशान मिले है। बेटे बेनिक्स के घुटनों को काफी देर तक दबाए रखा था वहीं पिता जयराज डायबिटिज के मरीज थे। 

क्या था पूरा मामला

19 जून को लॉकडाउन आदेश के समय के कुछ मिनट बाद भी पिता जयराज ने दुकान खोली रखी थी जिसको लेकर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने पिता और बेटे बेनिक्स दोनों  को पुलिस हिरासत में ले लिया और काफी शारिरिक यातनाएं दी जिससे दोनों की मौत हो गई। बता दें कि इस मौत के बाद से तमाम लोग सीबीआई की जांच की मांग कर रहे है। यहां तक की बॉलीवुड स्टार्स तापसी पन्नू, रितेश देशमुख, जेनेलिया डीसूजा, वीर दास और प्रियंका चोपड़ा तक ने इस मामले का विरोध किया है और न्याय की मांग की है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।