तेजस्वी यादव बोले- बिहार में सरकार नहीं बल्कि सर्कस चल रहा है, लोगों में नाराजगी

Tejashwi Yadav
अंकित सिंह । Apr 11, 2022 5:58PM
तेजस्वी ने कहा कि कोई भी उपचुनाव होता है तो वो महत्वपूर्ण होता है और हम लोग कैंपेन करके आए हैं और हमने लोगों में बिहार सरकार के खिलाफ नाराजगी देखी है। लोग जानते हैं कि बिहार में सरकार नहीं चल रही है बल्कि बिहार सरकार में सर्कस चल रहा है।

बिहार के बोचहां में होने वाले उपचुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां लगातार जारी है। बोचहां में मुख्य मुकाबला राजद और भाजपा उम्मीदवार के बीच है। इन सब के बीच राजद के वरिष्ठ नेता और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बड़ा दावा किया है। तेजस्वी यादव ने साफ तौर पर कहा है कि लोगों में बिहार सरकार के प्रति नाराजगी है। इसके साथ ही उन्होंने नीतीश सरकार पर हमला करते हुए कहा कि बिहार में सरकार नहीं बल्कि सर्कस चल रहा है। तेजस्वी ने कहा कि कोई भी उपचुनाव होता है तो वो महत्वपूर्ण होता है और हम लोग कैंपेन करके आए हैं और हमने लोगों में बिहार सरकार के खिलाफ नाराजगी देखी है। लोग जानते हैं कि बिहार में सरकार नहीं चल रही है बल्कि बिहार सरकार में सर्कस चल रहा है।

इसे भी पढ़ें: पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों पर बोले नीतीश कुमार- हो सकता है कुछ दिन बाद स्थिति सामान्य हो जाए

तेजस्वी ने आगे कहा कि बिहार सरकार अपने वादों में खरी नहीं उतरी है जिसके कारण बिहार के लोगों का ही नुकसान हो रहा है। हम निश्चिंत हैं और हमें उम्मीद है कि उपचुनाव में राष्ट्रीय जनता दल की ही जीत होगी। आपको बता दें कि मुकेश सहनी की पार्टी वीआईपी के एक विधायक के निधन के बाद से बोचहां सीट खाली हुआ था। बोचहां में 12 अप्रैल को मतदान होगा। भाजपा ने यहां से बेबी देवी को अपना प्रत्याशी बनाया है जबकि मुकेश सहनी ने डॉक्टर गीता देवी को अपना उम्मीदवार बनाया है। राजद की ओर से अमर पासवान चुनावी मैदान में हैं और खुद तेजस्वी यादव उनके प्रचार के लिए भी पहुंचे थे। 

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान को क्यों आई अटल बिहारी वाजपेयी की याद, वायरल हो रहा है ये भाषण

बोचहां में सभी दलों के नेताओं ने अपनी ताकत झोंक रखी है। 16 अप्रैल को मतदान होगा। मुख्य मुकाबला भाजपा और राजद के बीच में है। फिलहाल बिहार विधानसभा में भाजपा के 77 विधायक हैं। पहले इसके पास 74 विधायक थे लेकिन बाद में वीआईपी के तीन विधायक भी भाजपा में शामिल हो गए। इसके बाद उसकी संख्या 77 हो गई। बिहार की राजनीति में बोचहां उपचुनाव प्रतिष्ठा का सवाल बन गया है। जानकारों की मानें तो बोचहां विधानसभा चुनाव के बाद बिहार के राजनीति में आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो सकता है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़