तेलंगाना में BJP प्रदेश अध्यक्ष को 'प्रजा संग्राम यात्रा' की नहीं मिली इजाजत, बंदी संजय को पुलिस ने किया हाउस अरेस्ट

Bandi Sanjay
ANI
रेनू तिवारी । Nov 28, 2022 11:18AM
तेलंगाना में भी राजनीतिक हलचले तेज होती दिखाई दे रही हैं। तेलंगाना भाजपा प्रमुख बंदी संजय कुमार को उनके प्रस्तावित पैदल मार्च से कुछ घंटे पहले नजरबंद कर दिया गया है। बंदी संजय को रविवार रात जगतियाल जिले में पुलिस ने रोक लिया।

तेलंगाना में भी राजनीतिक हलचले तेज होती दिखाई दे रही हैं। तेलंगाना भाजपा प्रमुख बंदी संजय कुमार को उनके प्रस्तावित पैदल मार्च से कुछ घंटे पहले नजरबंद कर दिया गया है। बंदी संजय को रविवार रात जगतियाल जिले में पुलिस ने रोक लिया। रविवार की रात अपनी 'प्रजा संग्राम यात्रा' के लिए निर्मल जिले की ओर जाते समय हिरासत में लिया गया और उसके कुछ घंटों बाद तेलंगाना के भाजपा प्रमुख बंदी संजय कुमार को उनके करीमनगर आवास के बाहर भारी पुलिस तैनाती के साथ नजरबंद कर दिया गया है।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका के मेरीलैंड में विमान दुर्घटना, हादसे के बाद बिजली के तारों में फंसा विमान, यात्री सुरक्षित

बंदी संजय को "सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील स्थिति" का हवाला देते हुए निर्मल जिले के भैंसा शहर में उनकी यात्रा के पांचवें चरण और एक सार्वजनिक सभा के लिए अनुमति देने से इनकार करने के बाद उन्हें हिरासत में लिया गया और करीमनगर वापस लाया गया। पैदल मार्च के लिए निर्मल जा रहे प्रदेश भाजपा प्रमुख को पुलिस ने जगतियाल जिले में रोक दिया और वापस लौटने को कहा।

इसे भी पढ़ें: विझिंजम थाने पर भीड़ ने किया हमला, अडाणी बंदरगाह के निर्माण के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन में एक शख्स की गिरफ्तारी पर भड़का जनआक्रोश

बांदी संजय की नजरबंदी के खिलाफ भाजपा कार्यकर्ताओं के विरोध प्रदर्शन के बाद जगतियाल और निर्मल जिलों में तनाव व्याप्त हो गया। तेलंगाना भाजपा ने आरोप लगाया कि पुलिस कार्रवाई के दौरान पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं को चोटें आईं। इसने राज्य सरकार से मार्च और जनसभा के लिए तुरंत अनुमति देने की मांग की। बंदी संजय की यात्रा की अनुमति रद्द किए जाने के बाद तेलंगाना भाजपा ने भी तत्काल सुनवाई के लिए उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है।

बीजेपी के आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने एक ट्वीट में कहा, तेलंगाना में बीजेपी का उदय। केसीआर के निर्देशों के तहत पुलिस द्वारा प्रजा संग्राम यात्रा की अनुमति देने से इनकार करने के बाद, भाजपा तेलंगाना ने तत्काल सुनवाई के लिए उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। पिछली रात, भाजपा अध्यक्ष बंदी संजय और कैडरों को भैंसा जाने की अनुमति नहीं दी गई थी। केसीआर रोक नहीं सकते। भैंसा शहर में पिछले साल और 2020 में विभिन्न समुदायों से संबंधित समूहों के बीच झड़पें हुईं।

अन्य न्यूज़