भारतीय रेलवे हो जाए सावधान! आतंकियों ने रची ट्रेन की पटरी उड़ाने की साजिश,खुफिया एजेंसियों ने जारी किया अलर्ट

Terrorists
ani
रेनू तिवारी । May 23, 2022 11:34AM
खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट जारी कर चेतावनी दी है कि पाकिस्तान की इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस ने पंजाब और उसके आसपास के राज्यों में रेलवे ट्रैक को निशाना बनाने की बड़ी साजिश रची है।

वक्त-वक्त पर पाकिस्तानी आतंकी भारत की शांति को भंग करने के लिए साजिशें रचते रहते हैं। कायर आतंकियों में भारतीय जवानों से लड़ने की  ताकत नहीं हैं इस लिए वह मासूम जनता को अपना निशाना बनाते हैं। देश में कई आतंकी हमले करने में यह कामयाब भी हुए हैं और कितनी ही साजिशों मे हमारे देश की खुफियां एजेंसियों ने जमीन पर ही ध्वस्त कर दिया। ताजा अपडेट की बात करें तो आकंती एक बार फिर भारत में हमले की तैयारी में हैं। खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट जारी कर चेतावनी दी है कि पाकिस्तान की इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस ने पंजाब और उसके आसपास के राज्यों में रेलवे ट्रैक को निशाना बनाने की बड़ी साजिश रची है।

इसे भी पढ़ें: अमीना खातून के समर्थकों ने हजारीबाग में लगाए पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे, 62 के खिलाफ मामला दर्ज

अलर्ट में कहा गया है कि आईएसआई के गुर्गों ने पंजाब और आसपास के राज्यों में रेल पटरियों को उड़ाने की योजना बनाई है। भारत की खुफिया एजेंसियों ने कहा कि मालगाड़ियों को टक्कर मारने के लिए रेलवे ट्रैक को उड़ाने की योजना बनाई जा रही थी। 

 

इसे भी पढ़ें: भारत और अमेरिका के बीच भविष्य के अवसरों की राह खोलेगी डिजिटल अर्थव्यवस्था:USIBC

 

खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट में यह भी कहा कि आईएसआई भारत में अपने गुर्गों को रेलवे ट्रैक को निशाना बनाने के लिए बड़े पैमाने पर फंडिंग कर रही है। भारत में मौजूद पाकिस्तान के स्लीपर सेल को आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए मोटी रकम दी जा रही है।

 

आपको बता दें कि इस समय जम्मू कश्मीर में आतंकियों ने टारगेटिंग कीलिंग शुरू कर रखी हैं। आतंकी टारगेट करके कश्मीरी पंडितों की हत्या कर रहे हैं। हाल ही में सरकारी कर्मचारी राहुल भट्ट की आतंकियों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी जिसके बाद घाटी में काफी ज्यादा बवाल मचा हुआ था। भाजपा सरकार के खिलाफ कश्मीरी पंडित विरोध कर रहे थे। वह भारत सरकार से अपनी सुरक्षा की मांग कर रहे थे।  

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़