सुरक्षा सूचकांकों में सुधार संकेतों के बावजूद सेना ने जताई चिंता, आतंकी अब भी J&K में हमले की रखते हैं क्षमता

Jammu Kashmir
चिनार कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू ने कहा कि आतंक-रोधी अभियानों को जारी रखने की आवश्यकता है ताकि जम्मू-कश्मीर के निवासियों की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके।

श्रीनगर। सेना के एक शीर्ष अधिकारी ने बृहस्पतिवार को कहा कि सुरक्षा सूचकांकों में सुधार संकेतों के बावजूद आतंकवादी जम्मू-कश्मीर में हमलों को अंजाम देने की क्षमता रखते हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश में आतंकियों की संख्या घटकर करीब 200 रह गई है लेकिन वे सक्रिय आंतकी हमले की क्षमता रखते हैं। चिनार कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू ने कहा कि आतंक-रोधी अभियानों को जारी रखने की आवश्यकता है ताकि जम्मू-कश्मीर के निवासियों की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके। 

इसे भी पढ़ें: उमर ने विदेशी राजनयिकों की कश्मीर यात्रा पर किया कटाक्ष, असली पर्यटक भेजने को कहा 

बदामी बाग छावनी इलाके में 15वीं कोर के मुख्यालय में विदेशी राजनयिकों के दौरे के दौरान राजू ने उन्हें बताया कि व्यापक तौर पर सुरक्षा सूचकांक में सुधार हुआ है। हालांकि, आतंकवादी अब भी आतंकी हमला करने की क्षमता रखते हैं। विदेशी राजनयिकों ने लेफ्टिनेंट जनरल राजू के अलावा पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से बातचीत की। पुलिस और सेना के अधिकारियों ने राजनयिकों को नियंत्रण रेखा के जमीनी हालात से अवगत कराया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़