वाराणसी में 25 दिन से चल रहे धरने का हुआ समापन, कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर ने छात्रों से की बात

The 25 day long sit in in Varanasi ended
आरती पांडे । Aug 30, 2021 6:20PM
यह धरना प्रदर्शन 3 अगस्त से शुरू किया गया था और तब से सड़क के बंद हो जाने से आम शहरीयो और आसपास के लोगों और व्यापारियों को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था।

वाराणसी के दुर्गा कुंड में स्थित राजकीय अंध विद्यालय को बंद करने के विरोध में पिछले 25 दिनों से छात्रों ने धरना दिया था। रविवार को प्रदेश के कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर ने धरना दे रहे छात्रों से सर्किट हाउस में बातचीत की। 

इसे भी पढ़ें: बनारस रेलवे स्‍टेशन मालगाड़ी के बेपटरी होने से 5 डिब्बे दुर्घटनाग्रस्त हो गये

कक्षा 9 से 12 तक के कक्षा में संचालन में आ रही समस्या के बारे में मंत्री ने प्रबंधन समिति से भी इस बारे में बातचीत की। दरअसल मामला आया था कि एक निजी ट्रस्ट द्वारा संचालित अंध विद्यालय की 9 से 12 वीं कक्षा को फंड की कमी बताकर बंद करा दिया गया था। जिससे वापस से खोलने व फिर से चलाने को लेकर दिव्यांग छात्र दुर्गाकुंड क्षेत्र के मुख्य मार्ग कैंट, लंका मार्ग पर धरना देकर बैठ गए थे। यह धरना प्रदर्शन 3 अगस्त से शुरू किया गया था और तब से सड़क के बंद हो जाने से आम शहरीयो और आसपास के लोगों और व्यापारियों को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था।

इसे भी पढ़ें: महामारी और बेरोजगारी को लेकर समाजवादी पार्टी ने किया जन आक्रोश आंदोलन

बातचीत के दौरान अनिल राजभर ने छात्रों को आश्वासन दिया कि छात्रों को शासन स्तर पर प्रयास कर जल्द से जल्द कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया है। छात्रों से दुर्गा कुंड में चल रहे धरने को खत्म करने को भी कहा गया जिस पर छात्रों द्वारा दुर्गाकुंड के मुख्य रास्ते से प्रदर्शन हटाने के बात में रजामंदी व्यक्त की गई। इस बातचीत के दौरान एसीपी भेलूपुर इंस्पेक्टर जिला दिव्यांग सशक्तिकरण अधिकारी राजेश मिश्रा एवं अन्य लोग मौजूद रहे।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़