बदल जाएगी ट्रांसपोर्ट की पूरी तस्वीर, दिल्ली की सड़कों पर दौड़ती दिखेंगी ई बसें

बदल जाएगी ट्रांसपोर्ट की पूरी तस्वीर, दिल्ली की सड़कों पर दौड़ती दिखेंगी ई बसें

दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने ट्वीट किया कि दिल्ली मुबारक हो, लंबे इंतजार के बाद डीटीसी की पहली 100 फीसदी इलेक्ट्रिक बस का प्रोटोटाइप पहुंच गया है। उन्होंने ट्विट करते हुए कहा है कि सीएम अरविंद केजरीवाल जल्द ही इस इलेक्ट्रिक बस को हरी झंडी दिखाएंगे।

आपने पहले डीजल और फिस सीएनजी बसों में तो बहुत सफर किया लेकिन अब आप जल्द ही इलेक्ट्रिक बसों में सफर कर पाएंगे। दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने ट्वीट किया कि दिल्ली मुबारक हो, लंबे इंतजार के बाद डीटीसी की पहली 100 फीसदी इलेक्ट्रिक बस का प्रोटोटाइप पहुंच गया है। इस ट्वीट में मंत्री ने बस की फोटो भी पोस्ट की हैं. इसमें बस को बाहर से और अंदर से दिखाया गया है। उन्होंने ट्विट करते हुए कहा है कि सीएम अरविंद केजरीवाल जल्द ही इस इलेक्ट्रिक बस को हरी झंडी दिखाएंगे।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कोरोना पॉजिटिव हुए, घर में किया खुद को आइसोलेट

बता दें कि दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के लिए 300 हाईटेक इलेक्ट्रिक बसों को बीते बरस ही मंजूरी दे दी थी। जिसकी डिलवरी बीते साल नवंबर के महीने से होनी थी। लेकिन कोरोना महामारी की वजह से डिलिवरी में विलंब हुआ। गहलोत ने पहले साझा किया था कि नई इलेक्ट्रिक बसों के अलावा, दिल्ली के सार्वजनिक परिवहन बेड़े में दो बैचों में 800 सीएनजी बसें भी शामिल होंगी: पहले बैच में 450 और अगले में 350। उन्होंने यह भी समझाया कि इन सीएनजी बसों के शामिल होने के बाद, दिल्ली सरकार केवल सार्वजनिक परिवहन के लिए इलेक्ट्रिक बसों की खरीद करेगी।

इसे भी पढ़ें: भाजपा दिल्ली की सड़कों पर गुंडागर्दी कर रही है: सिसोदिया

कई सुविधाओं से लैस होंगी ये बसें 

ये बसें कितनी हाईटेक होंगी आप इन खूबियों के जरिये समझ जाएंगे। ये 300 लोअर फ्लोर एयरकंडीशन बसें रियल टाइम पसेंजर इंफॉर्मेशन सिस्टम, सीसीटीवी, पैनिक बटन, जीपीएस और अन्य सुविधाओं से लैस होगी।  इसी के साथ ये बसें विकलांग व्यक्तियों के लिए कंपैटिबल होंगी। महिला यात्रियों के लिए परिवहन विभाग ने नए कमांड और कंट्रोल सेंटर के साथ इंटिग्रेट किया जाएगा। दरअसल, दिल्ली में पहले से ही महिलाओं के लिए यात्रा फ्री है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...