राहुल को अध्यक्ष बनाने की फिर तेज हुई मांग, कई राज्यों की कांग्रेस कमेटी ने पास किए प्रस्ताव

Rahul gandhi
ANI
अंकित सिंह । Sep 19, 2022 6:53PM
एक से अधिक उम्मीदवार होने पर 17 अक्टूबर को मतदान कराए जाएंगे जबकि नतीजे 19 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे। दरअसल, 2019 के लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद राहुल गांधी ने पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था।

कांग्रेस में अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर हलचल तेज होती जा रही है। इन सब के बीच कई राज्यों में कांग्रेस कमेटी की ओर से राहुल गांधी को फिर से अध्यक्ष बनाने की मांग को लेकर प्रस्ताव पारित किए गए। जिन राज्यों में यह प्रस्ताव पारित किए गए हैं उनमें राजस्थान, गुजरात, छत्तीसगढ़, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, जम्मू-कश्मीर, उत्तर प्रदेश और बिहार शामिल है। इन राज्यों में कांग्रेस कमेटियों का साफ तौर पर कहना है कि राहुल गांधी को एक बार फिर से पार्टी की कमान संभालनी चाहिए। आपको बता दें कि अगले महीने कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव होना है। इसको लेकर कांग्रेस की ओर से लगातार तैयारियां की जा रही हैं। चुनाव के लिए अधिसूचना 22 सितंबर को जारी की जाएगी जबकि नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया 25 से शुरू होकर 30 सितंबर तक चलेगी। 

इसे भी पढ़ें: भाजपा में शामिल हुए पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह, तोमर और रिजिजू ने दिलाई सदस्यता

एक से अधिक उम्मीदवार होने पर 17 अक्टूबर को मतदान कराए जाएंगे जबकि नतीजे 19 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे। दरअसल, 2019 के लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद राहुल गांधी ने पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने हार की जिम्मेदारी ली थी और साथ ही साथ ही यह भी कहा था कि वे नहीं चाहते कि कोई भी गांधी परिवार का सदस्य अध्यक्ष बने। हालांकि, सीडब्ल्यूसी की बैठक में सोनिया गांधी को पार्टी की जिम्मेदारी सौंपने का निर्णय लिया गया था। सोनिया गांधी फिलहाल कांग्रेस में अंतरिम अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी संभाल रही हैं। फिलहाल कांग्रेस की ओर से भारत जोड़ो यात्रा निकाली जा रही है। राहुल गांधी इसका नेतृत्व कर रहे हैं। हालांकि राहुल गांधी ने साफ तौर पर कहा है कि वह इस में शामिल हो रहे हैं और देश को जोड़ने का काम करेंगे नफरत फैलाने वालों के खिलाफ उनकी लड़ाई जारी रहेगी। 

इसे भी पढ़ें: रिजर्वेशन पर सुशील कुमार शिंदे ने दे दिया ऐसा बयान, कांग्रेस की बढ़ सकती है मुश्किलें

कई वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं का मानना है कि अगर पार्टी का नेतृत्व गांधी परिवार में नहीं रहेगा तो इसमें बिखराव हो सकता है। इसको लेकर राहुल गांधी से भी सवाल पूछा गया था। राहुल गांधी ने कहा कि उन्होंने फैसला कर लिया है कि उन्हें क्या करना है। लेकिन अपनी योजनाओं का खुलासा नहीं करेंगे। यदि पार्टी अध्यक्ष पद के लिए वह आगामी चुनाव नहीं लड़ेंगे तो इसके कारण भी बता देंगे। राहुल गांधी के इस बयान से साफ तौर पर देखा था कि वह अध्यक्ष पद के लिए इच्छुक नहीं है। फिर सवाल यह है कि आखिर कांग्रेस का अगला अध्यक्ष कौन होगा? पार्टी में फिलहाल इसको लेकर मंथन चल रहा है। कई दावेदारों के नाम सामने आ रहे हैं। 

अन्य न्यूज़