महाराष्ट्र में पवित्र तालाब को टैंकर के पानी से भरा गया

नासिक के महापौर अशोक मुर्तादक ने बताया कि उन्होंने गोदावरी नदी के तट पर स्थित सूख चुके पवित्र तालाब रामकुंड में पानी के टैंकरों के मालिकों से पानी डालने की अपील की थी।

नासिक। गोदावरी नदी के तट पर स्थित, सूख चुके पवित्र तालाब रामकुंड को टैंकरों और कुएं के पानी से आखिरकार भर दिया गया। नासिक के महापौर अशोक मुर्तादक ने बताया कि उन्होंने पानी के टैंकरों के मालिकों से रामकुंड में पानी डालने की अपील की थी। उन्होंने बताया ‘‘उन्होंने (पानी के टैंकर मालिकों ने) प्रतिक्रिया दी और शुक्रवार को 50 से 60 टैंकों के पानी का उपयोग करके रामकुंड को भर दिया।’’

महापौर ने कहा कि इसके बाद शुक्रवार को स्थानीय लोगों ने ‘‘गुड़ी पड़वा’’ पर पवित्र स्नान किया। पिछले 139 साल में पहली बार रामकुंड तालाब सूख गया क्योंकि पिछले साल बारिश कम होने और भीषण सूखे के कारण गंगपुर बांध में पानी कम हो गया था। गोदाप्रेमी अर्बन एक्शन कमेटी के देवांग जानी ने बताया ‘‘रामकुंड 139 साल बाद सूखा क्योंकि कृषि प्राधिकारियों ने गंगपुर बांध से नदी में पानी छोड़ना बंद कर दिया था। ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि पीने के लिए पानी बचाना उनकी पहली प्राथमिकता है।’’

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


Tags

    अन्य न्यूज़