उत्तराखंड के लिए आगामी 10 दिन अहम, बढ़ते कोरोना वायरस मामलों से निपटने के लिए सरकार तैयार: रावत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 26, 2020   10:34
उत्तराखंड के लिए आगामी 10 दिन अहम, बढ़ते कोरोना वायरस मामलों से निपटने के लिए सरकार तैयार: रावत

मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि विभिन्न प्रांतों से राज्य के लोगों को वापस लाने का निर्णय सरकार ने लिया है और पहले से ही यह अनुमान था कि बाहर से लोगों को लाने पर कोरोना वायरस के मामले बढेंगे, इसलिए सरकार पहले से ही तैयारियों में जुटी है।

देहरादून। कोरोना वायरस के संक्रमण की दृष्टि से उत्तराखंड के लिए आगामी 10 दिनों को काफी अहम बताते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिह रावत ने कहा कि विभिन्न प्रांतों से आ रहे प्रवासियों के कारण कोविड-19 के संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं लेकिन इससे निपटने के लिए राज्य सरकार पूरी तरह से तैयार है। यहां जारी एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, नैनीताल जिले के हल्द्वानी में सर्किट हाउस में अधिकारियों की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि विभिन्न प्रांतों से राज्य के लोगों को वापस लाने का निर्णय सरकार ने लिया है और पहले से ही यह अनुमान था कि बाहर से लोगों को लाने पर कोरोना वायरस के मामले बढेंगे, इसलिए सरकार पहले से ही तैयारियों में जुटी है।

इसे भी पढ़ें: चीन से लंबी भिड़ंत की तैयारी, तनाव के बाद भी भारत लद्दाख में निर्माण कार्य रखेगा जारी

प्रवासियों का आना शुरू होने के बाद पिछले कुछ दिनों में प्रदेश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है और अब तक यहां 349 मामले सामने आ चुके है। उन्होने कहा कि सरकार हर परिस्थिति से लड़ने और निपटने के लिए तैयार तथासक्षम है। समीक्षा बैठक में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह तथा स्वास्थ्य सचिव अमित नेगी भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने कहा ‘‘कोरोना वायरस के संक्रमण की दृष्टि से आने वाले 10 दिन काफी अहम होंगे और ऐसे में हमें एहतियात बरतने की जरूरत होगी तथा संयम से कार्य करना व रहना होगा।’’ इस मुश्किल समय में पृथक-वास के नियमों का पालन करने का आग्रह करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि जो व्यक्ति इसका पालन नही करते, उनसे सख्ती से इसका पालन करवाया जाए।

इसे भी पढ़ें: देश में कोरोना मरीजों की तादाद 1.39 लाख के करीब, 24 घंटे में रिकॉर्ड 6977 ताजा केस

उन्होने कहा कि संक्रमण का दौर में जनता भी अपनी जिम्मेदारियां समझे व इस लडाई मे सहयोग करें। रावत ने कहा कि पृथक-वास में रखे गए लोगों की रिपोर्ट अगर अगले 10 दिन में नेगेटिव आती है और साथ ही उनमें दूसरे लक्षण भी नहीं दिखते हैं तो ऐसे लोगों को घर भी भेजा जा सकता है। उन्होने सभी अधिकारियों व कर्मचारियों से कहा कि वे पूरी तत्परता, कार्य कुशलता एवं निष्ठा और टीम भावना के साथ संक्रमण काल में दायित्वों का निर्वहन करें। मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने बताया कि राज्य में अब तक 1.54 लाख लोग आ चुके हैं और विभिन्न प्रान्तों से उत्तराखण्ड आने के लिए 2.47 लाख लोगों ने पंजीकरण कराया है। उन्होंने कहा कि विभिन्न प्रान्तों से लोगों का आना जारी है इसलिए आने वाले समय में कोविड केयर चिकित्सालय में पर्याप्त व्यवस्थाओं के साथ ही पृथक-वास केंद्रों में भी पर्याप्त व्यवस्थायें रखी जाएं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...