प्रियंका की अयोध्या यात्रा पर BJP ने उठाए सवाल, कहा- पाप का प्रायश्चित करने आ रहीं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 25, 2019   19:48
प्रियंका की अयोध्या यात्रा पर BJP ने उठाए सवाल, कहा- पाप का प्रायश्चित करने आ रहीं

भाजपा प्रवक्ता ने कांग्रेस महासचिव को चुनौती देते हुये कहा, क्या वह (अयोध्या में बहने वाली) पवित्र सरयू नदी का पानी हाथ में लेकर कसम खायेंगी कि कांग्रेस ने अयोध्या में जो पाप किये हैं, उसके लिये प्रायश्चित करेंगी?

लखनऊ। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की प्रस्तावित अयोध्या यात्रा को खुली चुनौती देते हुये भाजपा ने सोमवार को पूछा कि क्या वह पवित्र सरयू नदी के जल को हाथ में लेकर कांग्रेस ने अयोध्या में जो पाप किये हैं, उसके लिये प्रायश्चित करेंगी। उप्र भाजपा प्रवक्ता चंद्रमोहन ने कहा, योगी आदित्यनाथ की सरकार ने अयोध्या के विकास के लिये प्रयास किये जिसकी वजह से आज वह अंतरराष्ट्रीय पर्यटक स्थल बन गया है। यह योगी आदित्यनाथ सरकार की वजह से हुआ है कि आज अयोध्या को उसका खोया हुआ गौरव वापस मिल गया है।  

भाजपा प्रवक्ता ने कांग्रेस महासचिव को चुनौती देते हुये कहा, क्या वह (अयोध्या में बहने वाली) पवित्र सरयू नदी का पानी हाथ में लेकर कसम खायेंगी कि कांग्रेस ने अयोध्या में जो पाप किये हैं, उसके लिये प्रायश्चित करेंगी? क्या वह अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाने में कांग्रेस द्वारा पैदा की जा रही अड़चनों के लिये माफी मांगेगी। उन्होंने कहा  राम भक्त और अयोध्या की जनता राम सेतु पर सवाल उठाने वालों से एक सवाल पूछना चाहती है कि उसी कांग्रेस पार्टी की महासचिव भगवान राम की जन्म भूमि क्यों आ रही हैं। क्या प्रियंका, योगी आदित्यनाथ द्वारा किये गये विकास कार्यो को स्वीकार कर रही हैं। 

इसे भी पढ़ें: अखिलेश का PM मोदी पर तंज, कहा- बेरोजगारों को चौकीदार नहीं, स्थायी रोजगार चाहिए

उन्होंने कहा कि  उनका (प्रियंका गांधी) अयोध्या दौरा तब सफल हो सकता है, जब वह पार्टी के नेता कपिल सिब्बल को पार्टी से निकाल दें। चन्द्रमोहन ने कहा, प्रियंका गांधी वाड्रा प्रयागराज गयीं और वहां से मोटरबोट के जरिये वाराणसी गयी, यह तब संभव हुआ जब हमारी सरकार ने नदी को यात्रा के लायक बनाया। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।