कांग्रेस का आरोप, योगी सरकार रोजगार दिलाने के नाम पर जनता के साथ छल कर रही है

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 28, 2020   17:11
कांग्रेस का आरोप, योगी सरकार रोजगार दिलाने के नाम पर जनता के साथ छल कर रही है

कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर रोजगार दिलाने के नाम पर जनता को छलने का आरोप लगाते हुए कहा है कि सरकार के दावे दरअसल हकीकत से बिल्कुल उलट हैं।

लखनऊ। कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर रोजगार दिलाने के नाम पर जनता को छलने का आरोप लगाते हुए कहा है कि सरकार के दावे दरअसल हकीकत से बिल्कुल उलट हैं। उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने रविवार को यहां संवाददाताओं से कहा कि भाजपा सरकार राज्य में सवा करोड़ लोगों को रोजगार देने का दावा कर रही है लेकिन यह कोरा झूठ और ठगी है। उन्होंने कहा कि गांवों में लोग जो काम सदियों से करते आ रहे हैं, सरकार बता रही है कि उसने यह रोजगार दिया है लेकिन इस गोरखधंधे और ठगी को जनता माफ नहीं करेगी।

इसे भी पढ़ें: तेज गति से जांच कोरोना के संक्रमण की कड़ी तोड़ने के लिहाज से महत्वपूर्ण: योगी

लल्लू ने कहा कि सरकार भले ही एक करोड़ से ज्यादा लोगों को रोजगार देने का दावा कर रही है लेकिन जमीनी सच्चाई कुछ और ही है। उनके अनुमसार प्रदेश में रोजाना कहीं न कहीं से आर्थिक तंगी के वजह से लोग आत्महत्या कर रहे हैं। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा,‘‘उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में बिसंडा थाना क्षेत्र के अमलोहरा गांव में सूरत से लौटे प्रवासी मजदूर ने शुक्रवार को अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ अयोध्या का दौरा करेंगे, राम मंदिर निर्माण कार्य का लेंगे जायजा

सिर्फ बांदा जिले में ही लॉकडाउन के दौरान 20 लोगों के आत्महत्या करने की खबरें आ चुकी हैं, आखिर इन मौतों का जिम्मेदार कौन है? अगर रोजगार मिल रहा है तो लोग आत्महत्या क्यों करने पर मजबूर हैं?’’ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी अपने साथ एक आर्थिक तबाही भी लेकर आई है तथा उत्तर प्रदेश का काँच उद्योग, पीतल उद्योग, कालीन उद्योग, बुनकरी, फर्नीचर उद्योग, चमड़े का उद्योग, होजरी उद्योग, डेयरी, मिट्टी बर्तन उद्योग, फिशरी-हेचरी उद्योग समेत सभी तरह के कारोबार को जबरदस्त झटका लगा है। लल्लू के मुताबिक उत्तर प्रदेश के लाखों बुनकरों की हालत अत्यंत खराब है, कुटीर और लघु उद्योग मंदी की मार सह रहे हैं लेकिन सरकार ने उनकी कोई मदद नहीं की।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...