ठेके पर नहीं मिला शराब का 'पौव्वा' तो दिल्ली हाई कोर्ट पहुंच गया ये शख्स, सरकार के खिलाफ दायर की याचिका

ठेके पर नहीं मिला शराब का 'पौव्वा' तो दिल्ली हाई कोर्ट पहुंच गया ये शख्स,  सरकार के खिलाफ दायर की याचिका

दिल्ली सरकार की नई आबकारी नीति के खिलाफ दूसरी जो याचिका दायर हुई है वो बहुत ही अजीबोगरीब है। जिसमें याचिकाकर्ता की शिकायत है कि दिल्ली में शराब का 'पौव्वा' मिलना बंद कर दिया है। सरकार के इस फैसले से काफी लोगों को परेशानी हो रही हैं।

हम सब ने कभी न कभी किसी न किसी को शराब के नशे में डूब कर अजीबोगरीब बाते करते जरूर देखा होगा। कहते हैं कि शराब का नशा करने वाले पीने के बाद काफी मन की बातों को निकालते हैं।  जिसके कारण कई लोगों के शराब पीकर घर टूटे हैं और कई लोगों के जुड़े भी हैं। नशा ऐसी ही चीज हैं। खैर आज हम आपको बताने जा रहे हैं दिल्ली में शराब को लेकर हो रहे विवाद के बारे में। दिल्ली सरकार की नई आबकारी नीति के खिलाफ पहले ही कई तरह के विवाद खड़े होने के बाद कुछ याचिकाएं कोर्ट में दायार की थी जिसमें से एक हैं शराब पीने की आयु को कम करना। दिल्ली सरकार की नई नीति के खिलाफ कई याचिकाएं दिल्ली हाई कोर्ट में दायर की गई हैं। इसी में से एक याचिकाकर्ता के वकील अरुण मोहन ने शराब पीने की कानूनी उम्र को कम करने के प्रावधान को चुनौती दी है। उनका तर्क है कि दिल्ली की नई शराब नीति सिर्फ टैक्स से कमाई बढ़ाने और निजी दुकानदारों को फायदा पहुंचाने के लिए है। 

इसे भी पढ़ें: किसान की हत्या, लापता सिर बरामद, आरोपी की अभी शिनाख्त नहीं

दिल्ली सरकार की नई आबकारी नीति के खिलाफ दूसरी जो याचिका दायर हुई है वो बहुत ही अजीबोगरीब है। जिसमें याचिकाकर्ता की शिकायत है कि दिल्ली में शराब का 'पौव्वा' मिलना बंद कर दिया है। सरकार के इस फैसले से काफी लोगों को परेशानी हो रही हैं। याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका में कोर्ट से ये गुहार लगायी है कि पौव्वा की बिक्री को वापस फिर से शुरू किया जाए क्योंकि पौव्वा शराब कहीं भी पी जा सकती हैं और इसे बड़े-बुजुर्गों से छिपाना भी काफी आसान होता हैं। 

इसे भी पढ़ें: शादी की खुशी में दूल्हे ने पी शराब, दुल्हन ने चौखट से ही लौटा दी बारात

याचिकाकर्ता की इस याचिका पर आम आदमी पार्टी ने हैरानी जतायी है और अपनी सफाई में कहा है कि दिल्ली सरकार की नयी शराब नीति में पौव्वे पर कोई रोक नहीं लगायी गयी है इस लिए इस तरह की याचिका का कोई मतलब नहीं हो रहा हैं।

आपको बता दें कि दिल्ली में पिछले काफी समय से शराब की किल्लत चल रही हैं। सरकार की नयी नीति के अनुसार कई ठेके बंद हो गय़े हैं। जो लोग शराब बेच रहे हैं वो ठेको पर मनमाने पैसे से शराब बेज रहे हैं और पौव्वा को उन्होंने बंद कर दिया है लेवल 1 लीटर शराब (खंबा), आधा लीटर शराब ( अध्धा), उससे छोटा पौव्वा होता है और आखिर में सबसे छोटी शराब की बोतल (बच्चा) होती है। अब ठेको पर केवल खंबा ही ज्यादातर बेचे जा रहे हैं। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...