देशद्रोही हैं आंगनबाड़ियों में भोजन की चोरी में शामिल लोग: मेनका गांधी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 7, 2019   20:26
देशद्रोही हैं आंगनबाड़ियों में भोजन की चोरी में शामिल लोग: मेनका गांधी

महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने एक कार्यक्रम में कहा कि बच्चों के भोजन की चोरी शामिल... जो आंगवाड़ी इस तरह के कृत्यों में शामिल हैं... यह देश द्रोह है।

नयी दिल्ली। बड़ी संख्या में फर्जी आंगनवाड़ी लाभार्थियों का पता चलने पर गंभीर चिंता जताते हुए केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी ने सोमवार को कहा कि इन अनियमितताओं के लिए जिम्मेदार लोग देशद्रोही हैं और बच्चों के भोजन की चोरी से सरकार को बड़ा नुकसान हुआ है। महिला एवं बाल विकास मंत्री ने एक कार्यक्रम में यह टिप्पणियां कीं जहां देशभर की 97 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को शानदार कार्य के लिए पुरस्कृत किया गया। मेनका ने कहा, ‘बच्चों के भोजन की चोरी शामिल... जो आंगवाड़ी इस तरह के कृत्यों में शामिल हैं... यह देश द्रोह है। आपने न केवल एक बच्चे को लाभ से वंचित किया बल्कि आपने पूरे देश को बड़ा नुकसान पहुंचाया।’

इसे भी पढ़ें: राजनीतिक दलों से बोलीं मेनका गांधी, आंतरिक शिकायत समिति का करें गठन

मंत्री ने कहा कि एक दूसरा मुद्दा जिससे उन्हें बहुत पीड़ा हुई, वह है कि आंगवाड़िेयों ने बीते वर्षों में बड़ी मात्रा में सार्वजनिक धन व्यर्थ किया। मेनका ने कहा कि मंत्रालय को असम में तीन लाख, झारखंड में एक लाख और उत्तर प्रदेश में 14 लाख फर्जी लाभार्थी मिले हैं। हालांकि, मेनका की ये टिप्पणियां कुछ पुरस्कार विजेताओं को पसंद नहीं आईं। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने कहा कि उससे उनकी भावनाएं आहत हुई हैं। एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने कहा, ‘मंत्रालय को यह सब नहीं कहना चाहिए था।हमने आंगनवाड़ी को पूरा जीवन दे दिया। मैं मंत्री की टिप्पणियों से दुखी हूं। छत्तीसगढ में ऐसा कोई मामला नहीं है लेकिन फिर भी... मंत्री को हमारे प्रयासों तथा काम के बारे में ज्यादा बोलना चाहिए था।’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।