12 साल की दो मासूमों के साथ दंपती ने लगायी खुद को आग, सुसाइड नोट में विधायक के बेटे का नाम

12 साल की दो मासूमों के साथ दंपती ने लगायी खुद को आग, सुसाइड नोट में विधायक के बेटे का नाम

पिछले काफी समय से बाजार के हालात काफी खराब है। कोरोना वायरस के कारण लगे लॉकडाउन के बाद से ही रोजगार पर काफी असर पड़ा है। छोटे रोजगार तो बंद ही हो गये। ऐसे में बहुत से ऐसे परिवार है जो आर्थिक समस्याओं का सामना कर रहे हैं।

हैदराबाद। पिछले काफी समय से बाजार के हालात काफी खराब है। कोरोना वायरस के कारण लगे लॉकडाउन के बाद से ही रोजगार पर काफी असर पड़ा है। छोटे रोजगार तो बंद ही हो गये। ऐसे में बहुत से ऐसे परिवार है जो आर्थिक समस्याओं का सामना कर रहे हैं। कहा जा रहा है कि आर्थिक समस्या और कर्ज के कारण तेलंगाना ने एक परिवार ने आत्मदाह कर दिया। परिवार में माता-पिता और दो 12 साल की बच्चियां थी। 3 लोगों की मौके पर ही मौत हो गयी एक बच्ची 80 फीसदी जल चुकी है। पुलिस ने बच्ची को अस्पताल पहुंचाया जहां वह मौत से लड़ रही हैं। 

इसे भी पढ़ें: उच्च न्यायालय ने अदालत की अवमानना के लिए पुलिस अधिकारी को एक दिन जेल की सजा सुनाई

परिवार को आत्महत्या के लिए विधायक के बेटे ने उकसाया? 

इस परिवार ने आखिर आत्महत्या क्यों की हैं इस बात का जिक्र भी उन्होंने अपने सोसाइड नोट में लिखा हैं। परिवार आर्थिक परेशानी और कर्ज के कारण काफी परेशान थाष इस नोट में एक विधायक के बेटे का भी नाम शामिल हैं। विधायक के बेटे का नाम आने के बाद मामला तूल पकड़ता हुआ नजर आ रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: सत्ता में आने पर चन्नी के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया जाएगा : बादल 

पति- पत्नी और 12 साल की बेटियों ने खुद को लगायी आग 

तेलंगाना के भद्राद्री-कोठागुडम जिले में एक परिवार के तीन सदस्यों ने कथित तौर पर आत्महत्या कर ली और कथित सुसाइड नोट में एक विधायक के बेटे का नाम लिखे होने के बाद उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है। पुलिस ने सोमवार को बताया कि परिवार में माता-पिता और उनके दो बच्चों ने रविवार रात को खुद को जलाकर कथित तौर पर आत्महत्या की कोशिश की।

12 साल की बच्ची मौत से लड़ रही

उनमें से एक लड़की 80 प्रतिशत तक झुलस गयी है और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया जबकि अन्य की मौत हो गयी है। लड़की का बयान दर्ज कर लिया गया है। कथित सुसाइड नोट में परिवार के मुखिया की मां, बहन और एक स्थानीय विधायक के बेटे के नाम हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।