बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल में 24 घंटे में ब्लैक फंगस के लिए तीन ऑपरेशन थिएटर शुरू

बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल में 24 घंटे में ब्लैक फंगस के लिए तीन ऑपरेशन थिएटर शुरू

इसके अलावा अन्य मरीजों के लिए भी अस्पताल के प्रथम तल पर स्थित सर्जरी विभाग को खोल दिया गया है। पिछले साल कोरोना काल में इमरजेंसी, कैंसर व कोरोना वार्ड को छोड़ कर सभी विभाग की ओपीडी, वार्ड एवं ओटी बंद कर दी गई थी।

पूर्वांचल में ब्लैक फंगस के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल में सुविधाएं भी अब बढ़ाई जाने लगी है, जिसमे तीन ओटी ईएनटी आई यूरोलॉजी को 24 घंटे के लिए शुरू कर दिया गया है। इसके लिए सभी स्टाफ की तैनाती के साथ ही जरूरी दवाएं एवं अन्य उपकरण भी मुहैया करा दिया गया है। मरीजों के भर्ती के लिए बेड बढ़ाए जा रहे हैं तो ऑपरेशन के लिए अस्पताल में 24 घंटे के लिए तीन ओटी (ऑपरेशन थिएटर) की सुविधाएं शुरू की गई हैं। इसके अलावा अन्य मरीजों के लिए भी अस्पताल के प्रथम तल पर स्थित सर्जरी विभाग को खोल दिया गया है। पिछले साल कोरोना काल में इमरजेंसी, कैंसर व कोरोना वार्ड को छोड़ कर सभी विभाग की ओपीडी, वार्ड एवं ओटी बंद कर दी गई थी।

इसे भी पढ़ें: वाराणसी : BHU स्थित अस्थाई अस्पताल में आ रहे मेडिकल स्टाफ, एनडीआरएफ हॉस्टल में डालेगी डेरा

स बार भी ऐसा ही किया गया, लेकिन इसी बीच कुछ दिनों से ब्लैक फंगस की समस्या बढ़ गई है। इसे लेकर आयुर्वेद विभाग भवन स्थित चेस्ट वार्ड को पोस्ट कोविड काला फंगस वार्ड बनाया गया है। यहां पर भी जब बेड की कमी होने लगी तो अब चरक पुरुष वार्ड को भी ब्लैक फंगस के मरीजों के लिए 48 बेड तैयार किया गया है। इसके साथ ही अब आपरेशन की सुविधाएं भी बढ़ा दी गई है। पहले सिर्फ नाक, कान, गला के साथ ही नेत्र रोग विभाग में ही ऑपरेशन की सुविधा थी। वह भी इलेक्टिव। अब इसे 24 घंटे के लिए कर दिया गया है। अब ईएनटी, आई के साथ ही यूरोलॉजी विभाग के लिए भी दिन-रात के लिए ओटी सेवा शुरू कर दी गई है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।