सोशल मीडिया के जरिए देश के खिलाफ फैला रहा था जहर, छापेमारी में जुटी एनआईए

सोशल मीडिया के जरिए देश के खिलाफ फैला रहा था जहर, छापेमारी में जुटी एनआईए
प्रतिरूप फोटो

सोशल मीडिया के जरिए देश के खिलाफ जहर फैलाने का मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। अब ताजा मामला तमिलनाडु से सामने आया है। जहां ISIS की विचारधारा को बढ़ावा दिया जा रहा था और यह काम सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के जरिए किया जा रहा था।

सोशल मीडिया के जरिए देश के खिलाफ जहर फैलाने का मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। अब ताजा मामला तमिलनाडु से सामने आया है। जहां ISIS की विचारधारा को बढ़ावा दिया जा रहा था और यह काम सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के जरिए किया जा रहा था। अप्रैल में यह मामला उस वक्त सामने आया था जब अब्दुल्ला नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया गया था। 

इसे भी पढ़ें: शस्त्र लाइसेंस मामले को लेकर एक्शन में CBI, जम्मू-कश्मीर और दिल्ली में कई स्थानों पर की छापेमारी 

इसी कड़ी में अपनी जांच को आगे बढ़ाते हुए अब एनआईए ने 6 ठिकानों पर छापेमारी की है। आरोपी अब्दुल्ला के घर छानबीन में पुलिस एनआईए ने 22 डिजिटल डिवाइस, मोबाइल फोन, हार्ड डिस्क, मेमोरी कार्ड, पेन ड्राइव और बुकलेट बरामद की है। इस मामले में एनआईए लोगों से भी पूछताछ कर रही है।

6 ठिकानों पर NIA ने की छापेमारी

इस मामले में थेपाकुलम पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई गई थी और इस शिकायत में अब्दुल्ला पर यह आरोप लगाया गया था कि वह सोशल मीडिया पर ISIS की विचारधारा से प्रभावित पोस्ट कर रहा था। बता दें कि पहले यह मामला पुलिस सुलझाने में लगी हुई थी लेकिन बाद में इसे एनआईए को ट्रांसफर कर दिया गया था। 

इसे भी पढ़ें: मीडिया संस्थानों पर आयकर के छापो के खिलाफ आम आदमी पार्टी का हल्ला बोल 

मामले में एनआईए ने आगे जांच करते हुए 6 ठिकानों पर छापेमारी की तो इस बात का खुलासा हुआ कि अब्दुल्ला सिर्फ ISIS से ही नहीं बल्कि इस्लामिक संगठन Hizb-Ut-Tahrir को भी फॉलो कर रहा था। फिलहाल अबदुल्ला पुलिस की गिरफ्त में है और उससे पूछताछ की जा रही है।

पूछताछ के बाद खुलेंगे राज

अब्दुल्ला से पूछताछ में पुलिस और जानकारी लेने की कोशिश कर रही है। इसके बाद एनआईए अपनी जांच का दायरा आगे बढ़ाएगी। इसके बाद ही कई और राजों का भी खुलासा हो सकता है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।