उत्पल के बहाने टीएमसी का प्रहार, कहा- भाजपा नहीं कर रही मनोहर पर्रिकर का सम्मान

उत्पल के बहाने टीएमसी का प्रहार, कहा- भाजपा नहीं कर रही मनोहर पर्रिकर का सम्मान

टिकट नहीं मिलने से नाराज मनोहर पर्रिकर के बेटे ने पहले ही पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। इसके साथ ही अब वह पणजी सीट से बतौर निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान भी कर दिया है। दूसरे दल इसे भाजपा की अंदरूनी लड़ाई बताकर राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश कर रहे हैं।

गोवा विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा के लिए चुनौतियां लगातार बढ़ती जा रही है। भाजपा और पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल पर्रिकर के बीच में विवाद भी चल रहा है। टिकट नहीं मिलने से नाराज मनोहर पर्रिकर के बेटे ने पहले ही पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। इसके साथ ही अब वह पणजी सीट से बतौर निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान भी कर दिया है। दूसरे दल इसे भाजपा की अंदरूनी लड़ाई बताकर राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश कर रहे हैं। यही कारण है कि विधानसभा चुनाव में अब यह बड़ा राजनीतिक मुद्दा बनता जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: मनोहर पर्रिकर और प्रमोद सावंत ने गोवा के लिए किए हैं कई ऐसे काम, जो भुलाएं नहीं जा सकते

इन सबके बीच तृणमूल कांग्रेस ने भाजपा पर बड़ा आरोप लगाया है। तृणमूल कांग्रेस ने कहा है कि भाजपा पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के दिग्गज नेता मनोहर पर्रिकर का सम्मान तक नहीं कर रही। जाहिर सी बात है कि इस तरह का आरोप लगाकर टीएमसी चुनाव में सियासी फायदा ढूंढने की कोशिश कर रही है। टीएमसी ने तो यह भी दावा कर दिया है कि मनोहर पर्रिकर की विरासत को आगे बढ़ाने के लिए भाजपा एक अपराधी का साथ ले रही है। टीएमसी गोवा के लोगों से अपील कर रही है कि वह इस चुनाव में भाजपा को वोट नहीं करें और सोच समझकर निर्णय लें।

इसे भी पढ़ें: यदि भाजपा पणजी से अच्छा उम्मीदवार खड़ा करती है, तो चुनाव नहीं लड़ूंगा: उत्पल पर्रिकर

आपको बता दें कि उत्पल पर्रिकर ने भाजपा से इस्तीफा दे दिया है। उनका आरोप है कि पार्टी ने उनकी बात नहीं मानी। वह पणजी से चुनाव लड़ना चाहते हैं लेकिन उन्हें टिकट नहीं दिया गया। इसके साथ ही उत्पल पर्रिकर यह भी दावा कर रहे हैं कि वह पिता के सिद्धांतों पर अडिग रहेंगे और उससे से कोई समझौता नहीं करेंगे। दूसरी ओर भाजपा के गोवा चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि मनोहर पर्रिकर का परिवार हमारा परिवार है और हम उत्पल से लगातार बात कर रहे हैं और उन्हें कई विकल्प भी दिए गए हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।