पुराने लोगों को नजरअंदाज कर भाजपा में लाए गए टीएमसी के दल-बदलू धीरे-धीरे चले जाएंगे: तथागत राय

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 24, 2021   20:34
पुराने लोगों को नजरअंदाज कर भाजपा में लाए गए टीएमसी के दल-बदलू धीरे-धीरे चले जाएंगे: तथागत राय

पश्चिम बंगाल चुनाव से पहले भाजपा में शामिल होने वाली तृणमूल कांग्रेस की नेता सोनाली गुहा, सरला मुर्मू और अमल आचार्य ने राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी में वापस लौटने की इच्छा जाहिर की है और कहा है कि उन्हें भाजपा में शामिल होने के अपने निर्णय पर खेद है।

कोलकाता।  भाजपा नेतृत्व के एक धड़े पर हमले जारी रखते हुए पार्टी के वरिष्ठ नेता तथागत राय ने सोमवार को कहा कि पुराने लोगों को नजरअंदाज कर तृणमूल कांग्रेस के जिन दलबदलुओं का भाजपा में स्वागत किया गया था, वे अब अपने असली रंग दिखाने लगे हैं। राय ने कहा कि ऐसे सभी लोग एक के बाद एक अपनी पुरानी पार्टी में शामिल हो जाएंगे। पश्चिम बंगाल चुनाव से पहले भाजपा में शामिल होने वाली तृणमूल कांग्रेस की नेता सोनाली गुहा, सरला मुर्मू और अमल आचार्य ने राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी में वापस लौटने की इच्छा जाहिर की है और कहा है कि उन्हें भाजपा में शामिल होने के अपने निर्णय पर खेद है। 

इसे भी पढ़ें: नारद मामला: अदालत ने मामला स्थगित करने के सीबीआई के अनुरोध को अस्वीकार किया

अपने विवादास्पद बयानों के लिए पहचाने जाने वाले तथागत राय ने कहा, मेरी बात सही साबित हुई है। 20-30 साल पुराने लोगों को नजरअंदाज कर, जिन नए आने वालों का भाजपा में बाहें फैलाकर स्वागत किया गया, वे अब एक के बाद एक वापस तृणमूल कांग्रेस में जाने की तैयारी में हैं। विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 77 सीटें जीतीं जबकि तृणमूल कांग्रेस ने 213 सीटों पर कब्जा जमाया है। भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ पार्टी के अवांछनीय तत्व विधानसभा चुनाव से पहले भगवा दल में शामिल हो गए। उन्होंने कहा कि उनके विचार से चुनाव से पहले पाला बदलने वाले ऐसे नेताओं को अगले छह महीने तक तृणमूल कांग्रेस में शामिल नहीं किया जाना चाहिए। सांसद तथागत राय ने कहा, इस बारे में अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री एवं पार्टी प्रमुख ममता बनर्जी लेंगी। हालांकि, मेरे विचार से ऐसे लोगों को छह महीने के भीतर पार्टी में शामिल नहीं करना चाहिए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।