देशभर में ममता की ब्रॉन्डिंग की तैयारी में TMC, लॉन्च किया India Wants Mamata Di कैंपेन, 2024 पर है नजर

देशभर में ममता की ब्रॉन्डिंग की तैयारी में TMC, लॉन्च किया India Wants Mamata Di कैंपेन, 2024 पर है नजर
screenshot

ममता के मिशन 2024 के तहत ही तृणमूल कांग्रेस की तरफ से एक नया कैंपेन लॉन्च किया गया है। कैंपेन को India Wansts Mamaya Di का नाम दिया गया है। जिसका सीधा सा मतलब है कि भारत ममता दीदी को चाहता है।

लोकसभा चुनाव 2024 में अभी दो साल का वक्त शेष है। लेकिन इसको लेकर अभी से सरगर्मी तेज हो गई है। आम चुनाव को लेकर तमाम दलों की ओर से तीसरा मोर्चा या फिर फेडरल फ्रंट बनाने की कवायद लगातार देखने को मिली। इसी क्रम में कभी केसीआर दिल्ली दौरा करते हैं तो कभी गैर बीजेपी दलों की बैठकें भी होती है। लेकिन इन सब के बीच एक नाम जो अक्सर चर्चा में रहता है। खासकर 2 मई 2021 के विधानसभा चुनाव के बाद तो प्रमुखता के साथ वो है ममता बनर्जी का। ममता एक तरफ तो लगातार अपना काडर बढ़ाने में लगी हैं वहीं साथ दिल्ली के दौरे करने में भी पीछे नहीं हट रही हैं। बंगाल के बाहर खासतौर पर पूर्वोत्तर के राज्यों में कई बड़े कांग्रेस के नेता तो अपनी पार्टी से किनारा कर उनकी पार्टी में शामिल हो चुके हैं। ममता अपनी पार्टी को मजबूत करने में लगी है व लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर अपनी दावेदारी को बढ़ाने में भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही हैं। 

इसे भी पढ़ें: देश के सबसे बड़े मंदिर-मस्जिद के विवादों की कहानी: ज्ञानवापी, मथुरा और ताजमहल के साथ ही इन 10 जगहों को लेकर भी फंसा है पेंच

ममता के मिशन 2024 के तहत ही तृणमूल कांग्रेस की तरफ से एक नया कैंपेन लॉन्च किया गया है। कैंपेन को India Wansts Mamaya Di का नाम दिया गया है। जिसका सीधा सा मतलब है कि भारत ममता दीदी को चाहता है। इस डिजिटल अभियान के हिस्से के रूप में तृणमूल की तरफ से इसे आगे बढ़ाया जा रहा है। इसके लिए बकायदा एक वेबसाइट भी  बनाया गया है। पार्टी ये उम्मीद जता रही है कि वो देशभर के लोगों के साथ कनेक्ट कर अपनी उपलब्धियों का प्रचार बेहतर ढंग से करेगी। 

इसे भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल के अलीपुरद्वार में यौन उत्पीड़न के बाद आदिवासी लड़की की मौत

वेबसाइट में कहा गया है कि हम चाहते हैं कि हर भारतीय को सुशासन मिले। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जनता के सामने विकास के उद्देश्य से अपनी जन समर्थक नीतियों को आगे बढ़ाया है। 2024 में ममता बनर्जी अपने राजनीतिक जीवन के 40 साल पूरे कर लेगी तो उन्हें देश का प्रधानमंत्री बनाकर यही नीति पूरे देश में ले जाना चाहती हैं।  बता दें कि कुछ इसी तरह का कैंपेन बंगाल विधानसभा चुनाव के वक्त चलाया गया था। इसमें बांग्ला निजेर मेये चाई यानी कि बंगाल को अपनी बेटी चाहिए का नारा दिया गया था।  





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।