TMC की महिसा सांसद सदन में खाने लगीं कच्चा बैंगन, जानें वजह

TMC MP
creative common
अभिनय आकाश । Aug 01, 2022 7:30PM
मूल्य वृद्धि के विषय पर एक चर्चा के दौरान सांसद ने एक कच्चा बैगन निकाला जिसे वह घर ले गई थी। फिर कच्चा बैंगन खाकर नरेंद्र मोदी सरकार का विरोध किया। सांसद का महंगाई के प्रति विरोध था ये बताने के लिए कि रसोई गैस बहुत महंगी हो गई है।

देश में बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी को लेकर संसद में हर दिन गतिरोध देखने को मिल रहा है। संसद के मानसून सत्र के दौरान तृणमूल कांग्रेस सांसद काकोली घोष दस्तीदार ने बढ़ती कीमतों के मुद्दे पर सोमवार को लोकसभा में अनोखा विरोध प्रदर्शन किया। मूल्य वृद्धि के विषय पर एक चर्चा के दौरान सांसद ने एक कच्चा बैगन निकाला जिसे वह घर ले गई थी। फिर कच्चा बैंगन खाकर नरेंद्र मोदी सरकार का विरोध किया। सांसद का महंगाई के प्रति विरोध था ये बताने के लिए कि रसोई गैस बहुत महंगी हो गई है।

इसे भी पढ़ें: 'प्ले कार्ड लाना सदन के नियमों के खिलाफ', पीयूष गोयल बोले- सरकार निलंबन को रद्द करने का प्रस्ताव लाने के लिए तैयार

सांसद ने कहा कि पिछले कुछ महीनों में रसोई गैस के दाम चार गुना बढ़ाए गए हैं। पहले ये 600 रुपये थे जो, अब 1,100 हो गए हैं। मूल्य वृद्धि के मुद्दे पर बहस की अनुमति देने के लिए कुर्सी को धन्यवाद देते हुए, टीएमसी सांसद ने कहा कि इस मुद्दे पर बहस होने में भी लंबा समय लगा। सांसद ने मांग की कि रसोई गैस के दाम कम किए जाएं। इस बीच, दस्तीदार ने टीएमसी सांसद डोला सेन मौसम नूर के साथ संसद परिसर में महिलाओं की सुरक्षा के मुद्दे पर सदन में चर्चा की मांग को लेकर धरना दिया। उन्होंने "नवीनतम रिपोर्ट की गई घटनाओं" के आलोक में "महिलाओं के खिलाफ अपराधों की रोकथाम की आवश्यकता" पर चर्चा की मांग की। 

इसे भी पढ़ें: राउत की गिरफ्तारी से नाराज सांसद प्रियंका चतुर्वेदी संसद के बाहर बैनर के साथ आईं नजर, कहा- हम दबेंगे नहीं और ना झुकेंगे

इस मुद्दे पर चर्चा की मांग गुजरात के ग्रामीण विकास मंत्री और भाजपा विधायक अर्जुनसिंह चौहान के खिलाफ एक महिला के बलात्कार और अवैध रूप से बंधक बनाने के आरोपों के मद्देनजर की गई है। सेन ने कहा, "गुजरात के ग्रामीण विकास मंत्री अर्जुनसिंह चौहान पर एक महिला से बलात्कार और अवैध रूप से बंधक बनाने के आरोप हैं। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़