पलानीस्वामी ने स्टालिन पर किया पलटवार, बोले- करुणानिधि धोखा देकर बने थे मुख्यमंत्री

MK Stalin
मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी प्रत्याशियों का प्रचार करने के लिए अरानी और चेय्यर समेत अन्य जिलों का दौरा किया।

तिरुवन्नामलाई। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने उनके खिलाफ टिप्पणी करने के लिए द्रमुक प्रमुख एम के स्टालिन पर पलटवार करते हुए रविवार को कहा कि विधायकों ने उन्हें मुख्यमंत्री पद के लिए चुना जबकि दिवंगत एम करुणानिधि दशकों पहले वीआरनेदुनचेझियान को ‘धोखा’ देकर पार्टी के शीर्ष पद पर पहुंचे थे। अन्नाद्रमुक नेता पलानीस्वामी ने इस जिले में प्रचार के दौरान आरोप लगाया कि द्रमुक के संस्थापक सीएन अन्नादुरै के 1969 में निधन के बाद सब उम्मीद कर रहे थे ‘नवलार’ नेदुनचेझियान मुख्यमंत्री बनेंगे लेकिन स्टालिन के पिता करुणानिधि ‘शॉर्ट कट’ के जरिए मुख्यमंत्री बन गए। 

इसे भी पढ़ें: भले ही अन्नाद्रमुक एक सीट जीत जाए पर विजेता भाजपा का विधायक होगा: स्टालिन 

मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी प्रत्याशियों का प्रचार करने के लिए अरानी और चेय्यर समेत अन्य जिलों का दौरा किया। उन्होंने कहा कि वह 2017 में इस तरह से मुख्यमंत्री नहीं बने, बल्कि पार्टी के विधायकों ने उन्हें इस पद के लिए चुना तो वह मुख्यमंत्री बने। पलानीस्वामी ने आरोप लगाया, “ करुणानिधि नवलार नेदुनचेझियान को धोखा देकर मुख्यमंत्री बने थे।” 

इसे भी पढ़ें: DMK चीफ स्टालिन ने तमिलनाडु के कोलाथुर से नामांकन किया दाखिल 

नेदुनचेझियान द्रमुक में वरिष्ठ नेता थे, वह पार्टी में अन्नादुरै के बाद दूसरे नंबर के नेता थे। बाद मेंनेदुनचेझियान ने द्रमुक छोड़ दी थी और अन्नाद्रमुक में शामिल हो गए थे। स्टालिन आरोप लगाते रहे हैं कि पलानीस्वामी अन्नाद्रमुक की दिवंगत प्रमुख जे जयललिता की करीबी सहयोगी वी के शशिकला के सामने “रेंगकर” मुख्यमंत्री बने हैं। पलानीस्वामी ने कहा, “ क्या मैं सांप या छिपकली हूं जो रेंगूंगा?” उन्होंने कहा कि वह मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के लिए मंच तक चलकर गए थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़