• National Highlights: दिवाली से पहले संसदीय क्षेत्र का दौरा करेंगे पीएम मोदी, अन्य राष्ट्रीय घटनाओं के लिए पढ़ें पूरी रिपोर्ट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिवाली से पहले अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों को करोड़ों की योजनाओं का तोहफा दे सकते हैं। वहीं दूसरी और लखीमपुर हिंसा मामला समेत मौजूदा राजनीतिक स्थिति पर चर्चा करने और संगठनात्मक चुनावों पर फैसला करने के लिए 16 अक्टूबर को सीडब्ल्यूसी की बैठक बुलाई गई है।

प्रभासाक्षी की खास खबरों में जानिए दिनभर की उन घटनाओं के बारे में जिनका सरोकार सीधे जनता से है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिवाली से पहले अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों को करोड़ों की योजनाओं का तोहफा दे सकते हैं। बताया जा रहा है कि काशीवासियों को पांच हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की 32 परियोजनाओं की सौगात देंगे। वहीं दूसरी और लखीमपुर हिंसा मामला समेत मौजूदा राजनीतिक स्थिति पर चर्चा करने और संगठनात्मक चुनावों पर फैसला करने के लिए 16 अक्टूबर को सीडब्ल्यूसी की बैठक बुलाई गई है। पढ़िए विस्तार से सभी खबरों को...

'अंग्रेजों से सावरकर ने मांगी होती माफी तो कोई न कोई पद मिल जाता', पौत्र बोले- गांधी को राष्ट्रपिता नहीं कहा जा सकता

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की टिप्पणी के बाद बयानबाजी शुरू हो गई। इसी बीच विनायक दामोदर सावरकर के पौत्र रंजीत सावरकर का बयान सामने आया। दरअसल, राजनाथ सिंह ने 'वीर सावरकर हु कुड हैव प्रीवेंटेड पार्टिशन' नामक पुस्तक के विमोचन कार्यक्रम में कहा था कि महात्मा गांधी के कहने पर वीर सावरकर ने अंग्रेजी शासन को दया याचिकाएं दी थीं।

दीपावली से पहले वाराणसी दौरे पर जाएंगे पीएम मोदी, काशीवासियों को देंगे करोड़ों का सौगात

उत्तर प्रदेश में अब धीरे-धीरे चुनावी माहौल बनने लगा है। भाजपा भी अपने चुनावी तैयारियों को धार देने की कोशिश में है। इन सबके बीच खबर यह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी का दौरा कर सकते हैं। जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री का यह दौरा दिवाली के पहले हो सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिवाली से पहले अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों को करोड़ों की योजनाओं का तोहफा दे सकते हैं। बताया जा रहा है कि काशीवासियों को पांच हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की 32 परियोजनाओं की सौगात देंगे।

कोयला की कमी से जूझ रहे देश को उदित राज के सहारे राहत दिलाने की बात कांग्रेस नेता को गुजरी नागवार, पुलिस में कराई शिकायत

देश में कोयले की कमी इन दिनों सबसे ज्यादा चर्चित विषय है। कई राज्यों ने इसके चलते बिजली संकट गहराने की आशंका जताई है।  दिल्ली, पंजाब, आंध्र प्रदेश समेत कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है। इसमें जल्द से जल्द कोयले की कमी दूर करने की मांग की गई है। लेकिन अब इसको लेकर विवाद भी शुरू हो गया है। बीजेपी नेता एवं युवा मोर्चा के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संतोष रंजन राय ने बिजली संकट को लेकर उदित राज पर टिप्पणी कर दी जो कि उन्हें इस कदर नागवार गुजरी कि इसके खिलाफ कांग्रेस नेता ने शिकायत दर्ज करा दी है।

क्या CWC की बैठक से पहले कांग्रेस और G-23 के नेताओं के बीच बनी सहमति ? राहुल के साथ काफी दिख रहे हैं गुलाम नबी

कांग्रेस में क्या सबकुछ सुलझ गया है ? या फिर कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में सबकुछ सुलझा लिया जाएगा इस पर सहमति बन गई है ? ऐसा इसलिए कहा जा रहा है कि क्योंकि जी-23 नेताओं में शामिल गुलाम नबी आजाद बुधवार को पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ देखे गए हैं। 

बीजेपी के मुख्यमंत्री हिन्दुत्व और रीति रिवाज के प्रति निष्ठा दिखाने में नहीं बरतते कोई कोताही, कांग्रेस के यहां इतना सन्नाटा क्यों है भाई?

नवरात्रि का पावन पर्व चल रहा है। माता दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूरे नौ दिनों तक विधिवत पूजा-अर्चना के बाद विजया दशमी का त्योहार आने वाला है। विजया दशमी जिसे दशहरा के रूप में भी जाना जाता है। हिन्दुओं के लिए महत्वपूर्ण त्योहारों में दशहरा में रावण पर भगवान राम की जीत का प्रतीक है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार कन्या पूजन में 9 कन्याओं का पूजन किया जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार हर कन्या का अलग और विशेष महत्व होता है। सोशल मीडिया भी मां दुर्गा और अच्छाई पर बुराई जैसे सीखों से भरा पड़ा है।