National Highlights: किसानों के एक दिवसीय भारत बंद का कैसा गुजरा दिन, कौनसी पार्टियों का रहा सपोर्ट और क्या रही जनता की प्रतिक्रिया

National Highlights: किसानों के एक दिवसीय भारत बंद का कैसा गुजरा दिन, कौनसी पार्टियों का रहा सपोर्ट और क्या रही जनता की प्रतिक्रिया

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के खिलाफ आज संयुक्त किसान मोर्चा ने भारत बंद बुलाया था। किसानों के भारत बंद की वजह से दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब में राजमार्गों पर जाम की स्थिति रही।

प्रभासाक्षी की खास खबरों में जानिए दिनभर की उन घटनाओं के बारे में जिनका सरोकार सीधे जनता से है। केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के खिलाफ आज संयुक्त किसान मोर्चा ने भारत बंद बुलाया था। किसानों के भारत बंद की वजह से दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब में राजमार्गों पर जाम की स्थिति रही। वहीं दूसरी ओर आम लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। पढ़िए विस्तार से सभी खबरों को... 

भारत बंद के समर्थन में राहुल गांधी, कहा- किसानों का अहिंसक सत्याग्रह आज भी बरकरार

संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) द्वारा तीन विवादास्पद कृषि कानूनों के खिलाफ10 घंटे का भारत बंद बुलाया है। इसी बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी, सोमवार को विरोध करने वाले किसानों के समर्थन में आए और कहा कि उनका अहिंसक सत्याग्रह आज भी बरकरार है।

किसानों का भारत बंद, यूपी-हरियाणा से लेकर पंजाब तक सड़क जाम, ट्रेनों की रफ्तार पर भी ब्रेक

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के खिलाफ आज संयुक्त किसान मोर्चा ने भारत बंद बुलाया है। संगठनों का यह भारत बंद सुबह 6:00 बजे से लेकर शाम के 4:00 बजे तक चलेगा। किसानों के भारत बंद की वजह से दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब में राजमार्गों पर जाम की स्थिति है। दिल्ली के अलग-अलग बॉर्डर पर पहले से ही हजारों किसान डटे हुए हैं।

किसान संगठनों ने बुलाया एक दिवसीय भारत बंद, कहा - सरकार दबा रही है हमारी आवाज

केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान संगठनों ने सोमवार को एक दिवसीय भारत बंद बुलाया है। राजधानी भोपाल में भारत बंद पर करोंद मण्डी पर धरना कार्यक्रम आयोजित किया गया है। बंद को कांग्रेस समेत सभी विपक्षी पार्टियां शामिल हो रही है।

भारत बंद 2021: संयुक्त किसान मोर्चा को मिल रहा इन पार्टियों का समर्थन

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन पिछले 11 महीनों से जारी है। इन सब के बीच आज संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से 10 घंटे के भारत बंद का आह्वान किया गया है। इसको लेकर लगातार राजनीति भी हो रही है। संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा बुलाए गए भारत बंद का असर भी देखने को मिल रहा है। पंजाब, हरियाणा और पश्चिम उत्तर प्रदेश के कई एनएच पूरी तरह से जाम हैं। कई जगह ट्रेनों के परिचालन पर भी भारत बंद का असर पड़ रहा है। 

गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों ने कांग्रेस को नहीं करने दिया प्रदर्शन ! BKU ने कहा- आप आए उसके लिए धन्यवाद लेकिन यह राजनीतिक मंच नहीं

केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का पिछले 10 महीने से आंदोलन जारी है। इसी बीच आंदोलन कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा ने 27 सितंबर को 'भारत बंद' का आह्वान किया है जिसका असर दिखाई दे रहा है। वहीं कांग्रेस समेत कई राजनीतिक दलों ने किसान संगठन द्वारा बुलाए गए भारत बंद का समर्थन किया है। देश के विभिन्न हिस्सों विशेष रूप से पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान पिछले साल नवंबर से दिल्ली की सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

भारत बंद : ओडिशा में बाजार बंद, सार्वजनिक परिवहन सड़कों से नदारद

ओडिशा में सोमवार को भारत बंद के मद्देनजर बाजार बंद रहे और सार्वजनिक परिवहन सड़कों से नदारद दिखा, जिससे राज्य में जनजीवन प्रभावित हुआ। तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर आहूत भारत बंद के अवसर पर कांग्रेस और वाम दलों के सदस्यों सहित बंद समर्थकों ने बारिश के बीच राज्य भर में महत्वपूर्ण चौराहों पर धरना दिया। भुवनेश्वर, बालासोर, राउरकेला, संबलपुर, बरगढ़, बोलांगीर, रायगढ़ा और सुबर्णपुर सहित अन्य जगहों पर सड़कें अवरुद्ध कर दी गईं।

भारत बंद के कारण 25 ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित, रेलवे ने दी जानकारी

केन्द्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ विभिन्न किसान यूनियन द्वारा आहूत ‘भारत बंद’ के कारण सोमवार को करीब 25 ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित हुई। उत्तर रेलवे के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘‘दिल्ली, अंबाला और फिरोजपुर संभागों में 20 से अधिक स्थानों पर जाम हैं। इसके कारण करीब 25 ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित हुई है।’’

कृषि कानून के विरोध में भारत बंद के दौरान भिड़े किसान संगठन और बीजेपी के कार्यकर्ता

केंद्र सरकार के तीन कृषि कानून के विरोध में अखिल भारतीय किसान संगठन के बैनर तले ग्वालियर में भारत बंद कराया जा रहा है। उस समय तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई जब बंद कराने के दौरान किसान संगठन और बीजेपी के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई।

भारत बंद को लेकर केन्द्र पर बरसे केजरीवाल, कहा- किसानों की मांगें जायज, उनपर विचार करना चाहिये

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को केंद्र सरकार से तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों की मांगों पर विचार करने का अनुरोध किया और कहा कि अगर वह ऐसा करती है तो यह किसी के सामने ‘‘झुकना’’ नहीं होगा। उन्होंने सचिवालय में दिल्ली के लिए एक पर्यटन ऐप लॉन्च करने के एक कार्यक्रम के इतर कहा, हम भगत सिंह की जयंती मना रहे हैं। उन्होंने देश की आजादी के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया।

Prabhasakshi's Newsroom । कृषि कानूनों के विरोध में भारत बंद से जनता हुई परेशान, टिकैत बोले- हम सफल रहे

केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ संयुक्त किसान मोर्चा ने एकदिवसीय भारत बंद बुलाया, जिसकी वजह से राजधानी दिल्ली का यातायात प्रभावित रहा। जबकि किसान नेता राकेश टिकैत का कहना है कि भारत बंद सफल रहा है। वहीं बात राजस्थान में चल रही रीट परीक्षा की करेंगे। जिसको लेकर परीक्षार्थियों ने आंदोलन किया और अंत में बात असदुद्दीन ओवैसी की होगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।