त्रिपुरा सरकार मूल निवासियों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए कदम उठा रही है: मुख्यमंत्री

Manik Shah
ANI
त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक साहा ने सोमवार को कहा कि उनकी सरकार राज्य के मूल निवासियों की सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है। साहा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष भी हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में पूर्ववर्ती वाम मोर्चा शासन के दौरान आदिवासी बहुल क्षेत्रों में विकास कार्यों की अनदेखी की गई।

अगरतला, 2 अगस्त। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक साहा ने सोमवार को कहा कि उनकी सरकार राज्य के मूल निवासियों की सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है। उन्होंने आदिवासी लोगों से उनके कल्याण के लिए वर्तमान भाजपा-आईपीएफटी सरकार में विश्वास करने का आग्रह करते हुए कहा कि उनके समग्र विकास के लिए 1,295 करोड़ रुपये की परियोजना विश्व बैंक के विचाराधीन है।

साहा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष भी हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में पूर्ववर्ती वाम मोर्चा शासन के दौरान आदिवासी बहुल क्षेत्रों में विकास कार्यों की अनदेखी की गई। उन्होंने गोमती जिले के कारबुक उपखंड में भाजपा के एक कार्यक्रम के दौरान कहा, “वाम मोर्चा, जिसने 35 वर्षों तक राज्य पर शासन किया, ने सत्ता में बने रहने के लिए आदिवासी लोगों को वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल किया।

उन्होंने ‘फूट डालो और राज करो’ की नीति का पालन किया जैसा कि अंग्रेजों ने स्वतंत्रता पूर्व युग में किया था और कई वर्षों तक राज्य पर शासन करना जारी रखा।’’ यह दावा करते हुए कि भाजपा-आईपीएफटी सरकार विकास कार्यों को तेजी से आगे बढ़ा रही है, साहा ने कहा कि राज्य पहले ही त्रिपुरा जनजातीय क्षेत्र स्वायत्त जिला परिषद (टीटीएएडीसी) को त्रिपुरा क्षेत्रीय परिषद में परिवर्तित करने के लिए केंद्र को एक प्रस्ताव भेज चुका है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़