असम-मिजोरम सीमा विवाद के बाद ट्रकों की आवाजाही बफिर से शुरू होने की संभावना

Assam-Mizoram
असम और मिजोरम के बीच ट्रकों की आवाजाही फिर से शुरू होने की संभावना है। शुक्रवार को एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गई। बयान के अनुसार, केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला की अध्यक्षता में बृहस्पतिवार को हुई मिजोरम और असम के मुख्य सचिवों की एक ऑनलाइन बैठक में इस मामले पर चर्चा हुई।

आइजोल। असम के लैलापुर में स्थानीय लोगों द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 306 पर मार्ग अवरुद्ध किए जाने के मुद्दे को एक उच्च स्तरीय बैठक में उठाए जाने के एक दिन बाद शुक्रवार को असम और मिजोरम के बीच ट्रकों की आवाजाही फिर से शुरू होने की संभावना है। शुक्रवार को एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गई। बयान के अनुसार, केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला की अध्यक्षता में बृहस्पतिवार को हुई मिजोरम और असम के मुख्य सचिवों की एक ऑनलाइन बैठक में इस मामले पर चर्चा हुई। 

इसे भी पढ़ें: मेघालय भाजपा विधायक बोले, केएसयू अध्यक्ष के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी वापस लें असम बीजेवायएम नेता

भल्ला ने दोनों मुख्य सचिवों से आग्रह किया था कि वे अपने-अपने सीमावर्ती क्षेत्रों से सुरक्षा बल हटा लें ताकि आसपास के इलाके में शांति बहाल हो सके। आइजोल से 130 किमी दूर वैरेंटे में तैनात प्रशासन के अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार दोपहर तक कोई ट्रक मिजोरम में प्रवेश नहीं कर पाया है। खबरों में कहा गया है कि असम के कछार जिले में लैलापुर और आसपास के गांव के लोगों ने दोनों राज्यों को जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 306 पर नाकेबंदी कर दी थी क्योंकि मिजोरम ने सीमाई इलाकों से अपने बलों को वापस बुलाने से ‘‘इंकार कर दिया था।’’ दोनों राज्यों के लोगों के बीच 17 अक्टूबर को झड़प हो गई थी जिसमें कई लोग घायल हो गए और कई झोपड़े जला दिए गए थे। इसके बाद ही ट्रकों की आवाजाही प्रभावित हो गई।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़