पश्चिम बंगाल : निकाय चुनाव के नामांकन पर वायरल ऑडियो क्लिप को लेकर सियासी घमासान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 15, 2021   08:39
पश्चिम बंगाल : निकाय चुनाव के नामांकन पर वायरल ऑडियो क्लिप को लेकर सियासी घमासान

तृणमूल कांग्रेस के प्रदेश महासचिव कुणाल घोष ने कहा, ‘‘इस मुद्दे पर टिप्पणी नहीं करनी चाहिए। वैसे भी यह हमें याद दिलाता है कि एक अनुभवी भाजपा नेता तथागत रॉय ने पिछले विधानसभा चुनावों के दौरान भाजपा द्वारा उम्मीदवार चयन में पैसे की भूमिका के बारे में क्या कहा था।

कोलकाता|  वाट्सऐप का एक ऑडियो क्लिप सामने आया है जिसमें भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक कथित कार्यकर्ता को आगामी निकाय चुनावों में एक उम्मीदवार को नामित करने के लिए ‘‘रेट’’ का हवाला देते हुए सुना गया है।

तृणमूल कांग्रेस ने ट्विटर पर इसे साझा किया जिसके बाद राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप शुरू हो गया है। भाजपा ने ऑडियो क्लिप को फर्जी बताते हुए दावा किया कि पार्टी को बदनाम करने के लिए यह ‘‘तैयार’’ किया गया है।

इसे भी पढ़ें: चरणबद्ध तरीके से प्रत्यक्ष कक्षाओं की होगी शुरुआत: पश्चिम बंगाल के शिक्षा मंत्री


वाट्सऐप पर हुई बातचीत में एक व्यक्ति को आगामी निकाय चुनावों में एक उम्मीदवार के रूप में नामांकन के लिए कथित तौर पर ‘‘रेट’’ की पूछताछ करते हुए प्रदर्शित किया गया।

भाजपा के कथित कार्यकर्ता ने एक दर्जन नामांकन में से प्रत्येक के लिए एक लाख रुपये की ‘कीमत’ का हवाला दिया। यह ऑडियो क्लिप ‘‘रेट’’ पर बातचीत का है, जिसमें भाजपा के कार्यकर्ता ने पार्टी की प्रदेश इकाई के नेताओं के नाम का हवाला देते हुए इसे कम करने में असमर्थता व्यक्त की।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा कि उनकी पार्टी का कोई भी सदस्य इस तरह की बातचीत में शामिल नहीं है और उनकी पार्टी को बदनाम करने के लिए तृणमूल कांग्रेस द्वारा साजिश की गई है। ‘पीटीआई’ स्वतंत्र रूप से ऑडियो लिंक की प्रामाणिकता की पुष्टि नहीं कर सका।

तृणमूल कांग्रेस के प्रदेश महासचिव कुणाल घोष ने कहा, ‘‘इस मुद्दे पर टिप्पणी नहीं करनी चाहिए। वैसे भी यह हमें याद दिलाता है कि एक अनुभवी भाजपा नेता तथागत रॉय ने पिछले विधानसभा चुनावों के दौरान भाजपा द्वारा उम्मीदवार चयन में पैसे की भूमिका के बारे में क्या कहा था।

इसे भी पढ़ें: ममता ने कांग्रेस पर लगाया भाजपा से हाथ मिलाने का आरोप, अधीर ने किया पलटवार





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।