इंदौर में कोरोना से दो लोगों की मौत 50 नए मामले आए सामने

इंदौर में कोरोना से दो लोगों की मौत 50 नए मामले आए सामने

दीपावली के बाद इंदौर में लगातार 17 दिन तक 500 से अधिक नये संक्रमित मिले थे। इसके बाद यह संख्या धीरे-धीरे कम होती गई और करीब दो महीने बाद यहां नये प्रकरणों की संख्या 100 से नीचे पहुंची है।

इंदौर। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना के नये मरीजों की संख्या में लगातार कमी देखने को मिल रही है। यहां बीते 24 घंटों में यहां कोरोना के 50 नये मामले सामने आए हैं, जबकि दो लोगों की मौत हुई है। इसके बाद यहां संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढक़र 57,185 और मृतकों की संख्या 923 हो गई है। 

इसे भी पढ़ें: श्रीराम मंदिर निर्माण चंदे को लेकर दिग्विजय सिंह के छोटे भाई का विवादित बयान – कहाँ चोट्टो को ना दे चंदा

इंदौर की प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पूनम गाडरिया ने गुरुवार को बताया कि एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा बुधवार देर रात तीन हजार से अधिक सेम्पलों की जांच रिपोर्ट जारी की गई। इनमें 50 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए, जबकि शेष लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इन नये मामलों के साथ जिले में अब संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 57,185 हो गई है। वहीं, इंदौर में बीते 24 घंटों में कोरोना से दो मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। अब यहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 923 हो गई है। हालांकि, यहां कोरोना के मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं और अपने घर पहुंच रहे हैं। यहां अब तक 55,068 मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर पहुंच गए हैं। अब यहां सक्रिय मरीजों की संख्या 1194 है, जिनका विभिन्न अस्पतालों और घरेलू एकांतवास में उपचार जारी है। इंदौर में कोरोना का रिकवरी रेट 96 फीसदी पहुंच रहा है।

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश के हनुवंतिया में बड़ा हादसा, पैराग्लाइडिंग के दौरान 2 लोगों की मौत

गौरतलब है कि दीपावली के बाद इंदौर में लगातार 17 दिन तक 500 से अधिक नये संक्रमित मिले थे। इसके बाद यह संख्या धीरे-धीरे कम होती गई और करीब दो महीने बाद यहां नये प्रकरणों की संख्या 100 से नीचे पहुंची है। अब लगातार 11वें दिन यहां 100 से कम नये संक्रमित मिले हैं। बता दें कि इंदौर में एक दिन में सर्वाधिक 595 संक्रमित मिलने का रिकॉर्ड है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...