राणा दंपत्ति को लेकर उद्धव सरकार ने पार की क्रूरता की सारी हदें, पुलिस के माध्यम से किया गया व्यवहार गंभीर: फडणवीस

राणा दंपत्ति को लेकर उद्धव सरकार ने पार की क्रूरता की सारी हदें, पुलिस के माध्यम से किया गया व्यवहार गंभीर: फडणवीस
Creative Common

मीडिया से बात करते हुए देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र सरकार को जमकर निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने जिस तरह से अमरावती सांसद नवनीत राणा के साथ व्यवहार किया वह बेहद गंभीर है। यहां तक ​​कि अपराधियों के साथ भी ऐसा व्यवहार नहीं किया जाता है।

महाराष्ट्र के अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा दिल्ली दौरे पर हैं और आज उनकी लोकसभा स्पीकर ओम बिरला के साथ मुलाकात भी होगी। जिसके बाद बताया जा रहा है कि राणा दंपत्ति गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी मुलाकात कर सकते हैं। लेकिन नवनीत राणा के जेल से बाहर आने के बाद से उन्हें मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 8 मई को उन्हें हॉस्पिटल से डिस्चार्ज किया गया है। नवनीत राणा के अस्पताल में भर्ती होने के बाद से ही उनका हालचाल जानने के लिए नेताओं के जुटने का सिलसिला जारी रहा और इसी क्रम में महाराष्ट्र के पूर्व सीएम और नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस भी उनका हाल जानने लीलावती अस्पताल पहुंचे। फडणवीस ने रवि राणा से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली और काफी देर तक बातचीत की।

इसे भी पढ़ें: जून को अयोध्या जाएंगे आदित्य ठाकरे, संजय राउत बोले- हमारा प्रभु श्री राम के साथ नाता है और रहेगा

जिसके बाद मीडिया से बात करते हुए देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र सरकार को जमकर निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने जिस तरह से अमरावती सांसद नवनीत राणा के साथ व्यवहार किया वह बेहद गंभीर है। यहां तक ​​कि अपराधियों के साथ भी ऐसा व्यवहार नहीं किया जाता है। विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि राणा दंपत्ति को लेकर राज्य सरकार ने क्रूरता की सारी हदें पार कर दी हैं।

इसे भी पढ़ें: मुंबई में लाउडस्पीकर से अजान देने पर एक्शन, तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

फडणवीस ने कहा कि पिछले 14 दिनों में राज्य सरकार द्वारा पुलिस के माध्यम से उनके साथ किया गया व्यवहार गंभीर है। एक भी अपराधी के साथ ऐसा व्यवहार नहीं किया जाता है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की तरफ से 14 तारीख से मास्क की अनिवार्यता को समाप्त करने के सवाल पर फडणवीस ने जवाब देते हुए कहा कि तो अच्छा है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।