UGC और AICTE ने छात्रवृत्तियों के मामलों का निस्तारण किया: जावड़ेकर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 26, 2018   20:48
UGC और AICTE ने छात्रवृत्तियों के मामलों का निस्तारण किया: जावड़ेकर

उन्होंने पत्रकारों से कहा कि इस तरह की शिकायतें बार-बार आ रही थी कि यूजीसी और एआईसीटीई द्वारा छात्रवृत्तियां समय पर वितरित नहीं की जा रही है।

नयी दिल्ली। केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को कहा कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) और अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय से 250 करोड़ रुपये के विशेष अनुदान का उपयोग करते हुए छात्रवृत्तियों के बैकलॉग (लंबित मामलों) को दूर कर दिया है। मानव संसाधन विकास मंत्री जावड़ेकर ने कहा कि सरकार छात्रवृत्ति राशि में बढ़ोतरी की शोध छात्रों की मांग के बारे में भी ‘‘सकारात्मक’’ है।

उन्होंने पत्रकारों से कहा कि इस तरह की शिकायतें बार-बार आ रही थी कि यूजीसी और एआईसीटीई द्वारा छात्रवृत्तियां समय पर वितरित नहीं की जा रही है। हमने 250 करोड़ रुपये का विशेष अनुदान जारी किया और अब छात्रवृत्तियों के सभी लंबित मामलों का निस्तारण कर दिया गया है। 

यह भी पढ़ें: मोदी के अपने भी हो रहे बेगाने, सरेशवाला बोले- BJP की जमीन खिसक रही है

यूजीसी और एआईसीटीई छात्रों को विभिन्न छात्रवृत्ति प्रदान करते हैं। इस बीच शोधकर्ताओं के एक समूह ने बुधवार की सुबह मंत्री से मुलाकात की और शोध छात्रों के लिए छात्रवृत्ति राशि बढ़ाने की मांग की। जावड़ेकर ने कहा,‘‘हम इसके बारे में सकारात्मक हैं।’’ हालांकि उन्होंने इसके लिए कोई समयसीमा के बारे में कुछ नहीं कहा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।