हिरासत में बीजेपी को लेकर झगड़ पड़े उमर और महबूबा, किए गए अलग

By अभिनय आकाश | Publish Date: Aug 12 2019 11:44AM
हिरासत में बीजेपी को लेकर झगड़ पड़े उमर और महबूबा, किए गए अलग
Image Source: Google

पीडीपी की प्रमुख महबूबा ने उमर अब्दुल्ला को याद दिलाते हुए कहा कि उनके पिता फारूक अब्दुल्ला और अटल बिहारी वाजपेयी के बीच गठबंधन था। उन्होंने ये भी कहा कि तुम वाजपेयी की सरकार में एक जूनियर मिनिस्टर थे। इतना ही नहीं महबूबा ने उमर के दादा शेख अब्दुल्ला को भी मौजूदा हालात के लिए ज़िम्मेदार ठहराया। दोनों के बीच विवाद बढ़ने पर यह फैसला किया गया कि दोनों को अलग रखा जाए। उमर को महादेव पहाड़ी के पास चेश्माशाही में वन विभाग के भवन में रखा गया है जबकि महबूबा हरि निवास महल में ही हैं।

जम्मू कश्मीर की दो राजनीतिक पार्टियां नेशनल कांफ्रेस और पीडीपी वैसे तो एक-दूसरे के खिलाफ ही वर्षों से सियासत करते आए हैं। उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती हमेशा एक-दूसरे पर तंज कसने और आरोप लगाने से बाज नहीं आते हैं। लेकिन हालिया घटित घटनाक्रम में जम्मू कश्मीर की बदलती राजनीतिक तस्वीर और अनुछेद 370 हटाए जाने के मोदी सरकार के फैसले के बाद दुश्मन से परिस्थिति के मित्र बने उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती को आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद पिछले हफ्ते हरि निवास महल में हिरासत में रखा गया था।

इसे भी पढ़ें: नेशनल कान्फ्रेंस के गिरफ्तार नेता को जम्मू कश्मीर से उत्तर प्रदेश स्थानांतरित किया गया

लेकिन यहां दोनों के बीच झगड़ा हो गया। हालात इतने बिगड़ गए कि उमर अब्दुल्ला को दूसरी जगह शिफ्ट करना पड़ा। खबरों के अनुसार झगड़े के दौरान दोनों नेताओं ने एक-दूसरे पर जम्मू-कश्मीर में भाजपा को लाने का आरोप लगाया। एक अधिकारी के मुताबिक उमर अब्दुल्ला ने महबूबा पर चिल्लाते हुए कहा कि उनके पिता मुफ्ती मोहम्मद ने 2015 से 2018 के बीच बीजेपी से साठ-गांठ की थी।

इसे भी पढ़ें: मुस्लिम बहुल होने के कारण जम्मू कश्मीर से हटा अनुच्छेद 370 : चिदंबरम



इसके बाद पीडीपी की प्रमुख महबूबा ने उमर अब्दुल्ला को याद दिलाते हुए कहा कि उनके पिता फारूक अब्दुल्ला और अटल बिहारी वाजपेयी के बीच गठबंधन था। उन्होंने ये भी कहा कि तुम वाजपेयी की सरकार में एक जूनियर मिनिस्टर थे। इतना ही नहीं महबूबा ने उमर के दादा शेख अब्दुल्ला को भी मौजूदा हालात के लिए ज़िम्मेदार ठहराया। दोनों के बीच विवाद बढ़ने पर यह फैसला किया गया कि दोनों को अलग रखा जाए। उमर को महादेव पहाड़ी के पास चेश्माशाही में वन विभाग के भवन में रखा गया है जबकि महबूबा हरि निवास महल में ही हैं। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video