Underworld Terror Funding मामले में हो रहे रोज नए-नए खुलासे, भारत से छोटा शकील को पाकिस्तान भेजे गए करोड़ों रुपये

Chhota Shakeel
Creative Common
अभिनय आकाश । Jan 18, 2023 12:49PM
जांच एजेंसी ने कहा कि डी-कंपनी के सदस्य और कारोबारी सौदे के लिए दाऊद इब्राहिम या छोटा शकील से मिलने आने वाले लोगों को आवश्यक सुरक्षा जांच से नहीं गुजरना पड़ता है।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) अंडरवर्ल्ड टेरर फंडिंग मामले में जांच कर रही है। इसमें रोज नए खुलासे हो रहे हैं। एआईए ने खुलासा किया है कि भारत के मोस्ट वांटेड गैंगस्टर दाऊद इब्राहिम की डी-कंपनी के गुर्गों को पाकिस्तान के कराची हवाईअड्डे पर बिना किसी परेशानी के प्रवेश मिलता है। जांच एजेंसी डी-कंपनी के गुर्गों और गुर्गों से पूछताछ कर रही है। बताया गया है कि दाऊद गैंग के सदस्य चेक-इन और चेक-आउट के दौरान कराची हवाई अड्डे पर विशेष विशेषाधिकार प्राप्त करते हैं और यहां तक ​​कि उन्हें आव्रजन काउंटरों पर भी नहीं जाना पड़ता है। आवश्यक सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करें। दाऊद इब्राहिम और उसके सिंडिकेट से जुड़े टेरर फंडिंग मामलों की जांच कर रही एनआईए ने आगे खुलासा किया है कि डी-कंपनी के गुर्गों को पाकिस्तान के कराची हवाई अड्डे पर विशेष सुविधाएं मिलती हैं। 

इसे भी पढ़ें: Haseena Parkar के बेटे ने उगले कई राज, अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम ने कर ली दूसरी शादी, अपना पता भी बदला

जांच एजेंसी ने कहा कि डी-कंपनी के सदस्य और कारोबारी सौदे के लिए दाऊद इब्राहिम या छोटा शकील से मिलने आने वाले लोगों को आवश्यक सुरक्षा जांच से नहीं गुजरना पड़ता है। उन्हें हवाई अड्डे और अन्य गंतव्यों पर वीआईपी लाउंज में परेशानी मुक्त पहुंच मिलती है, जहां वे खूंखार गैंगस्टरों से मिलने वाले होते हैं। एनआईए को पूछताछ में पता चला है कि 2017 से 2018 के बीच 16 से 17 करोड़ रुपये भारत से पाकिस्तान में छोटा शकील के पास भेजे गए थे। पूछताछ में पता चला कि मामले में गिरफ्तार आरिफ भाईजान ने 2018 में मुंबई के अंधेरी इलाके में और कलाचौकी इलाके में चल रहे एक बिल्डर के प्रोजेक्ट में उसे मदद करने के नाम पर 16-17 करोड़ रुपये लिये थे। 

इसे भी पढ़ें: ईरान ने जासूसी के आरोप में ईरानी-ब्रिटिश नागरिक को फांसी दी

भगोड़े अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की दूसरी पत्नी पाकिस्तानी है और उसने अपनी पहली पत्नी को तलाक देने के बारे में झूठ बोला है, उसके भतीजे ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी को बताया है जो एक वैश्विक आतंकवादी नेटवर्क और एक आपराधिक सिंडिकेट से जुड़े मामले की जांच कर रही है। 

अन्य न्यूज़