बेरोजगारी से जुड़ी एक रिपोर्ट साझा करते हुए बोले गहलोत, कार्यरत लोग हो रहे हैं बेकार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 27, 2020   16:49
बेरोजगारी से जुड़ी एक रिपोर्ट साझा करते हुए बोले गहलोत, कार्यरत लोग हो रहे हैं बेकार

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को कहा कि आज देश के युवाओं के सामने सबसे बड़ा मुद्दा बेरोजगारी है जो लगातार बढ़ रही है लेकिन केंद्र सरकार इसको लेकर चुप है।

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को कहा कि आज देश के युवाओं के सामने सबसे बड़ा मुद्दा बेरोजगारी है जो लगातार बढ़ रही है लेकिन केंद्र सरकार इसको लेकर चुप है। पांच साल में देश के सात प्रमुख क्षेत्रों में 3.64 करोड़ लोगों के बेरोजगार होने संबंधी एक रपट का उल्लेख करते हुए गहलोत ने ट्वीट किया ‘‘आज के युवाओं के लिए सबसे बड़ा मुद्दा बेरोजगारी है। पिछले पांच साल में विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत लोग बेकार हो रहे हैं।’’

इसे भी पढ़ें: राजस्थान में गणतंत्र दिवस की धूम, हर्षोल्लास के साथ मनाया गया राष्ट्रीय पर्व

गहलोत के अनुसार, रोजगार संकट गहराता जा रहा है। केंद्र सरकार को अपने आगामी बजट में, नये रोजगार सृजित करने तथा ऐसी नीतियों अपनाने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए जिससे उद्योग फलें-फूलें और लोगों को रोजगार मिले। गहलोत ने लिखा है कि देश में बेरोजगारी बढ़ती जा रही है और बढ़ती महंगाई से हम सभी परेशान हैं। उनके अनुसार, ‘‘केंद्र सरकार की गलत नीतियों के कारण देश की अर्थव्यवस्था नीचे जा रही है। युवा बेचैन तथा आक्रोशित हैं।’’ 

इसे भी पढ़ें: राजस्थान का गौरव है जेएलएफ, इसने दुनिया में अपनी बनाई है एक जगह: गहलोत

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की जयपुर में मंगलवार को होने वाली युवा आक्रोश रैली  का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने लिखा है कि केंद्र सरकार भले ही इन सब मुद्दों पर चुप हो और आम जनता का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही हो लेकिन राहुल गांधी इन मुद्दों को उठाने के लिए जयपुर में रैली करेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।