एफएटीएफ रिपोर्ट को लेकर केंद्रीय मंत्री Anurag Thakur ने कांग्रेस पर साधा निशाना

Anurag Thakur
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
अब एफएटीएफ ने एक मामले का शोध (केस स्टडी) पेश किया है, जिसमें दिखाया गया है कि कैसे संप्रग सरकार में एक पूर्व केंद्रीय मंत्री ने एक व्यक्ति पर प्रियंका गांधी वाड्रा की औसत पेंटिंग को दो करोड़ रुपये में खरीदने के लिए दबाव डाला।”

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (एफएटीएफ) की एक रिपोर्ट को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा। रिपोर्ट में आरोप लगाया गया है कि एक भारतीय ‘बैंकर’ ने कांग्रेस के एक सदस्य के ‘करीबी रिश्तेदार’ से राष्ट्रीय पुरस्कारों के लिए रिश्वत के रूप में अधिक मूल्य देकर कलाकृति खरीदी। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने एक बयान में कहा, “‘कांग्रेस के भ्रष्टाचार का नया मॉडल’ सामने आया है। अब एफएटीएफ ने एक मामले का शोध (केस स्टडी) पेश किया है, जिसमें दिखाया गया है कि कैसे संप्रग सरकार में एक पूर्व केंद्रीय मंत्री ने एक व्यक्ति पर प्रियंका गांधी वाड्रा की औसत पेंटिंग को दो करोड़ रुपये में खरीदने के लिए दबाव डाला।”

वह एफएटीएफ की “कला और पुरावशेष बाजार में मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवादी वित्तपोषण नामक रिपोर्ट का हवाला दे रहे थे, जिसमें एक अग्रणी भारतीय बैंकर के एक मामले को दिखाया गया है। रिपोर्ट के अनुसार, बैंकर ने स्वार्थ के लिए आम कलाकृति महंगे दाम में खरीदी थी। रिपोर्ट में हालांकि बैंकर या नेता का नाम नहीं दिया गया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़