Unlock 5 के 25वें दिन देश में कोरोना से स्वस्थ होने की दर बढ़कर 90 फीसदी हुई

  •  अंकित सिंह
  •  अक्टूबर 25, 2020   22:17
  • Like
Unlock 5 के 25वें दिन देश में कोरोना से स्वस्थ होने की दर बढ़कर 90 फीसदी हुई
Image Source: Google

दस राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों- महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, आंध्र प्रदेश, असम, उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ में ठीक हुए मामलों में से 75 प्रतिशत मामले दर्ज किये गये है।

देश में कोविड-19 से 70,78,123 लोगों के ठीक होने के साथ ही संक्रमण से उबरने की राष्ट्रीय दर बढ़कर 90 फीसदी हो गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को यह जानकारी दी। मंत्रालय ने बताया कि पिछले 24 घंटे में 62,077 और लोग इस महामारी से ठीक हुए जबकि इसी अवधि में संक्रमण के 50,129 नये मामले सामने आये। उसने कहा, ‘‘इस समय उपचाराधीन मरीजों की संख्या की तुलना में स्वस्थ हुए लोगों की संख्या 64,09,969 अधिक है।’’ पिछले एक सप्ताह से लगातार एक हजार से कम लोगों की मौत हो रही है। मंत्रालय ने बताया कि यह आंकड़ा दो अक्टूबर से 1,100 से कम है। उसने बताया कि देश में अब 6,68,154 संक्रमितों का इलाज चल रहा हैजो कुल मामलों का 8.50 प्रतिशत है। दस राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों- महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, आंध्र प्रदेश, असम, उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ में ठीक हुए मामलों में से 75 प्रतिशत मामले दर्ज किये गये है।

मंत्रालय ने बताया कि महाराष्ट्र में एक दिन में दस हजार से अधिक लोग स्वस्थ हुए हैं। कोविड-19 संक्रमण के 50,129 नये मामलों में से 79 प्रतिशत इन दस राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में दर्ज किये गये हैं। केरल में सबसे अधिक आठ हजार से ज्यादा नये मामले दर्ज किये गये हैं जबकि महाराष्ट्र में छह हजार से अधिक मामले सामने आये है। पिछले 24 घंटे में कोविड-19 से 578 लोगों की मौत हुई है। इनमें से लगभग 80 प्रतिशत इन दस राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में हुई है। महाराष्ट्र में सबसे अधिक 137 लोगों की मौत हुई है। मंत्रालय के सुबह आठ बजे के ताज़ा आंकड़ों के मुताबिक, भारत में 50,129 नए मरीजों के बाद कुल मामलों की संख्या बढ़कर 78,64,811 हो गई है, जबकि मृतकों का आंकड़ा 1,18,534 हो गया है।

इसे भी पढ़ें: शक्ति और दायरे में भारत को चीन से बड़ा होना चाहिये: मोहन भागवत

भारत में कोविड-19 के 50129 नए मामले, 578 की मौत

भारत में लगातार तीसरे दिन 24 घंटे में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 55 हजार से कम रही जबकि करीब तीन महीने के बाद एक दिन में मृतकों की संख्या घटकर 578 हुई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सुबह आठ बजे के ताज़ा आंकड़ों के मुताबिक, भारत में 50,129 नए मरीजों के बाद कुल मामलों की संख्या बढ़कर 78,64,811 हो गई है, जबकि मृतकों का आंकड़ा 1,18,534 हो गया है। संक्रमण का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या लगातार तीसरे दिन सात लाख से कम रहीजबकि संक्रमण से उबरने की राष्ट्रीय दर बढ़कर 90 फीसदी हो गई है। आंकड़ों के अनुसार, भारत में 6,68,154 संक्रमित अपना इलाज करा रहे हैं जो कुल मामलों का 8.50 प्रतिशत है। देश में कुल 70,78,123 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। देश में संक्रमण से उबरने की राष्ट्रीय दर 90 प्रतिशत है जबकि मृत्यु 1.51 प्रतिशत है। भारत में सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख के पार चली गई थी,23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितंबर को संक्रमितों की संख्या 40 लाख के पार चली गई थी। कुल मामले 16 सितंबर को 50 लाख के ऊपर हो गए थे, 28 सितंबर को 60 लाख और 11 अक्टूबर को 70 लाख के पार चले गए थे। आईसीएमआर ने बताया कि 24 अक्टूबर तक 10,25,23,469 नमूनों की जांच की गई है।

दिल्ली में कोरोना वायरस के 4,136 नये मामले सामने आये

राष्ट्रीय राजधानी में रविवार को कोरोना वायरस के 4,136 नये मामले सामने आये जो पिछले 38 दिनों में एक दिन में सामने आये मामलों की सबसे अधिक संख्या है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस महामारी से मृतकों की संख्या 6,258 पहुंच गई है। यह लगातार तीसरा दिन है जब दिल्ली में कोरोना वायरस के चार हजार से अधिक मामले दर्ज किये गये हैं। शनिवार को 4,116 नये मामले सामने आये थे जबकि शुक्रवार को 4,086 मामले और इससे एक दिन पहले 3,882 मामले दर्ज किये गये थे। दिल्ली सरकार द्वारा जारी स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार रविवार को 4,136 नये मामले सामने आये। बुलेटिन के अनुसार इस महामारी से 33 और मरीजों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 6,258 पहुंच गई है। इसके अनुसार रविवार को उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 26,744 हो गई है जबकि पिछले दिन यह संख्या 26,467 थी। मामलों की कुल संख्या बढ़कर 3,56,656 हो गई है।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका में कोरोना का प्रकोप जारी, संक्रमण के 83,000 से ज्यादा नए मामले

पश्चिम बंगाल में कोविड-19 से 60 और मरीजों की मौत

पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण के 4,127 नए मामले सामने आए जिसके बाद रविवार को संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 3,49,701 हो गई। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी एक बुलेटिन में यह जानकारी दी गई। बुलेटिन के अनुसार कोविड-19 से 60 और मरीजों की मौत हो गई जिससे मृतकों की संख्या 6,487 पर पहुंच गई। पिछले चौबीस घंटे में कोविड-19 के कम से कम 3,857 मरीज ठीक हो गए। पश्चिम बंगाल में अब 37,017 मरीज उपचाराधीन हैं और अब तक 3,06,197 मरीज ठीक हो चुके हैं।

इसे भी पढ़ें: तेलंगाना में कोरोना के 978 नए मामले, चार और मरीजों की मौत

गुजरात में कोविड-19 के 919 नये मामले, 963 लोग ठीक हुए, सात की मौत

गुजरात में रविवार को कोरोना वायरस के 919 नये मामले सामने आए जिससे राज्य में सक्रमित लोगों की कुल संख्या एक लाख 67 हजार 173 हो गई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग ने दी। एक हफ्ते के अंदर यह दूसरी बार है जब नये मामलों की संख्या एक हजार से कम हुई है। राज्य में 19 अक्टूबर को 996 मामले सामने आए थे जो करीब तीन महीने के बाद एक हजार से कम का आंकड़ा था। विभाग ने एक बयान जारी कर कहा कि कोविड-19 के सात और रोगियों की मौत के साथ मृतकों की संख्या 3689 हो गई है। इसने कहा कि दिन में संक्रमण से 963 मरीज ठीक हुए जिससे राज्य में अस्पतालों से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या एक लाख 49 हजार 548 हो चुकी है। इसके साथ ही राज्य में ठीक होने की दर 89.46 फीसदी हो गई है। सूरत में रोजाना सबसे ज्यादा मामले आना जारी है। 

इसे भी पढ़ें: अरुणाचल प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के 66 नये मामले सामने आए

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के 951 नये मामले सामने आये, 10 और मरीजों की मौत

मध्य प्रदेश में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 951 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही प्रदेश में इसकी कुल संख्या बढ़ कर 1,67,249 तक पहुंच गयी। राज्य में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 से 10 और व्यक्तियों की मौत की पुष्टि हुई है, जिससे कुल मृतक संख्या बढ़ कर 2,885 हो गयी है मध्य प्रदेश के एक स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया, ‘‘पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश में इन्दौर एवं भोपाल में तीन-तीन और नरसिंहपुर, रतलाम, दमोह, एवं झाबुआ में एक-एक मरीज की मौत की पुष्टि हुई है।’’ उन्होंने बताया, ‘‘राज्य में अब तक कोरोना वायरस से सबसे अधिक 677 मौत इंदौर में हुई हैं, जबकि भोपाल में 469, उज्जैन में 97, सागर में 120, जबलपुर में 198 एवं ग्वालियर में 158 लोगों की मौत हुई हैं। शेष मरीजों की मौतें अन्य जिलों में हुई हैं।’’ अधिकारी ने बताया कि प्रदेश में रविवार को कोविड-19 के 263 नये मामले इंदौर जिले में सामने आये हैं, जबकि भोपाल में 213 एवं जबलपुर में 54 नये मामले आये। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कुल 1,67,249 संक्रमितों में से अब तक 1,53,127 मरीज स्वस्थ होकर घर चले गये हैं और 11,237 मरीजों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है। उन्होंने कहा कि रविवार को 1,181 मरीजों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

इसे भी पढ़ें: ओडिशा में कोरोना वायरस के 1633 नए मामले, 16 और मरीजों की मौत

केरल में कोरोना वायरस संक्रमण के 6,843 नए मामले

केरल में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 6,843 नए मामले सामने आए जिसके बाद राज्य में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 3,79,991 हो गई। इसके अलावा महामारी से 26 और मरीजों की मौत हो गई जिससे मृतकों की संख्या 1,332 पर पहुंच गई। स्वास्थ्य मंत्री के. के. शैलजा ने कहा कि वर्तमान में कोविड-19 के 96,585 मरीज उपचाराधीन हैं और अब तक 2,94,910 मरीजों की मौत हो चुकी है।

इसे भी पढ़ें: देशभर में सादगी से मनाया गया दशहरा, कोरोना का पुतला दहन किया गया

महाराष्ट्र में कोविड-19 के 6,059 नए मामले सामने आये, 112 और मरीजों की मौत

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 6,059 नये मामले सामने आने के बाद रविवार को संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 16,45,020 हो गई। स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी। विभाग ने बताया कि राज्य में कोविड-19 से 112 और मरीजों की मौत हो गई। इसके साथ ही राज्य में मृतक संख्या बढ़कर 43,264 हो गई। विभाग ने एक विज्ञप्ति में बताया कि दिन के दौरान इस महामारी से 5,648 लोगों को ठीक होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई जिससे राज्य में अब तक ठीक हुए लोगों की संख्या 14,60,755 हो गई हैं। राज्य में अभी 1,40,486 मरीजों का इलाज चल रहा हैं। महाराष्ट्र में अब तक 86,08,928 लोगों की कोविड-19 के लिए जांच हो चुकी है। राज्य में इस महामारी के रोगियों के स्वस्थ होने की दर 88.8 फीसदी है जबकि मृत्युदर 2.63 फीसदी है। मुंबई शहर में कोरोना वायरस संक्रमण के रविवार को 1,222 नए मामले सामने आए तथा 46 और मरीजों की मौत हो गई। इसके साथ ही महानगर में कुल मामलों की संख्या बढ़कर 2,51,281 हो गई और मृतकों की संख्या बढ़कर 10,105 हो गई। नासिक में 113 नये मामले सामने आए, जबकि पुणे शहर में 298, पिंपरी-चिंचवाड में 150 और नागपुर में 276 नये मामले सामने आए।

इसे भी पढ़ें: आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास कोरोना वायरस से संक्रमित, अलग रह कर रहे हैं काम

पंजाब में कोरोना वायरस संक्रमण के 415नए मामले, 10 और मरीजों की मौत

पंजाब में कोविड-19 से 10 और मरीजों की मौत हो गई जिसके बाद रविवार को मृतकों की संख्या बढ़कर 4,117 हो गई। इसके साथ ही कोरोना वायरस संक्रमण के 415 नए मरीज सामने आए जिसके बाद कुल मामले 1,31,055हो गये। एक चिकित्सा बुलेटिन में यह जानकारी दी गई। बुलेटिन के अनुसार पिछले 24 घंटे में पठानकोट और रूपनगर में दो-दो तथा अमृतसर, बठिंडा, फिरोजपुर, लुधियाना, मोगा एवं मोहाली में एक-एक मरीज की मौत हो गयी। बुलेटिन के मुताबिक होशियारपुर से 74, लुधियाना से 55 और जालंधर से 45 नये मरीज सामने आये। बुलेटिन के अनुसार राज्य में अभी कोविड-19 के 4,217मरीज उपचाराधीन हैं। रविवार को 465 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी गयी जिसके साथ ही राज्य में अब तक 1,22,721 मरीज ठीक हो चुके हैं। बुलेटिन के अनुसार अब तक जांच के लिए 24,78,710 नमूने लिये गये हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।
Related Topics
unlock 5 unlock 5 guidelines unlock 5 rules unlock 5 latest news lockdown news lockdown unlock 5 lockdown unlock 5 guidelines unlock 5 india unlock 5 phase 5 news lockdown latest news lockdown news lockdown lockdown news lockdown unlock 5 rules covid-19 test kit covid-19 test kit in India corona vaccine Unlock2 Unlock3 unlock 4 PM Modi coronavirus मोदी लॉकडाउन कोरोना वायरस कोरोना संकट कोरोना वायरस से बचाव के उपाय आरोग्य सेतु एप कोरोना टेस्ट नरेंद्र मोदी अर्थव्यवस्था भारतीय अर्थव्यवस्था एमएसएमई केंद्रीय मंत्रिमंडल Coronavirus India LIVE Updates COVID-19 recovery rate India Lockdown News Live Updates coronavirus coronavirus latest news india coronavirus cases lockdown news lockdown latest news coronavirus today news corona cases in india india news coronavirus news covid 19 india coronavirus live news corona news corona latest news india coronavirus coronavirus live news coronavirus latest news in india coronavirus live update covid 19 tracker india covid 19 tracker covid 19 tracker live corona cases in india corona cases in india delhi coronavirus news Union Health Minister Dr Harsh Vardhan केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय कोरोना वायरस संक्रमण कोविड-19 एच1एन1 फ्लू कोरोना वायरस महामारी व्हाइट हाउस ऑक्सफोर्ड डॉ. हर्षवर्धन जम्मू-कश्मीर एम वेंकैया नायडू विश्व स्वास्थ्य संगठन 


भोपाल के ईदगाह हिल्स का नाम गुरु नानक टेकरी रखने की माँग

  •  दिनेश शुक्ल
  •  नवंबर 30, 2020   23:30
  • Like
भोपाल के ईदगाह हिल्स का नाम गुरु नानक टेकरी रखने की माँग
Image Source: Google

भोपाल की हुजूर विधानसभा सीट से विधायक और मध्य प्रदेश विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने कहा है कि ईदगाह हिल्स का नाम बदलकर गुरु नानक टेकरी किया जाए। उन्होंने कहा कि 500 साल पहले जब गुरु नानक देव जी भारत भ्रमण पर निकले थे, तब वे भोपाल भी आए थे।

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने  प्रदेश की राजधानी  भोपाल स्थित ईदगाह हिल्स का नाम बदलकर गुरु नानक टेकरी किए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि भोपाल की यह टेकरी ऐतिहासिक रूप से गुरु नानक देव जी की स्मृतियों से जुड़ी हुई है। वही रामेश्वर शर्मा ने होशंगाबाद शहर का नाम बदलकर नर्मदापुरम रखने की वकालत की है। 

इसे भी पढ़ें: नर्मदा और गौ संरक्षण की मांगों को लेकर भैयाजी सरकार ने शुरू किया सत्याग्रह

भोपाल की हुजूर विधानसभा सीट से विधायक और मध्य प्रदेश विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने कहा है कि ईदगाह हिल्स का नाम बदलकर गुरु नानक टेकरी किया जाए। उन्होंने कहा कि 500 साल पहले जब गुरु नानक देव जी भारत भ्रमण पर निकले थे, तब वे भोपाल भी आए थे। यहां गुरु नानक देव जी उसी टेकरी पर आए थे, जिसे ईदगाह हिल्स कहा जाता है। उन्होंने कहा कि पहले इस टेकरी को गुरुनानक टेकरी कहा जाता था, लेकिन बाद में यहां ईदगाह बन गई और उसका नाम ईदगाह हिल्स पड़ गया। अब इसे बदलकर गुरु नानक टेकरी किया जाना चाहिए। वही रामेश्वर शर्मा ने कहा कि होशंगाबाद का नाम भी बदलकर नर्मदापुरम किया जाना चाहिए। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


नर्मदा और गौ संरक्षण की मांगों को लेकर भैयाजी सरकार ने शुरू किया सत्याग्रह

  •  दिनेश शुक्ल
  •  नवंबर 30, 2020   23:00
  • Like
नर्मदा और गौ संरक्षण की मांगों को लेकर भैयाजी सरकार ने शुरू किया सत्याग्रह
Image Source: Google

भैयाजी सरकार धूनी वाले द्वारा विगत 46 दिन से अन्न त्याग कर मां नर्मदा गौ सत्याग्रह किया जा रहा है। जबलपुर, मंडला आदि अनेक नर्मदा तटों पर उनके समर्थकों के द्वारा इस सत्याग्रह को समर्थन दिया जा रहा है।

होशंगाबाद। मध्य प्रदेश के होशंगाबाद में नर्मदा और गौ संरक्षण की मांग को लेकर बीते 46 दिनों से सत्याग्रह कर रहे संत भैयाजी सरकार ने सोमवार को कार्तिक पूर्णिमा से जिले के बांद्राभान संगम तट पर सत्याग्रह शुरू कर दिया है। उनके साथ नर्मदा मिशन से जुड़े कई संगठनों के पदाधिकारियों द्वारा सत्याग्रह किया जा रहा है। मां नर्मदा की पूजन अर्चन के साथ सत्याग्रह सोमवार सुबह 9 बजे से शुरू हो गया है। जिसमें शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के सैंकड़ों लोग जुड़ते जा रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: अपने साथी बलराम की मौत के बाद हिंसक हुआ हाथी राम, दो लोगों पर किया हमला

भैयाजी सरकार धूनी वाले द्वारा विगत 46 दिन से अन्न त्याग कर मां नर्मदा गौ सत्याग्रह किया जा रहा है। जबलपुर,  मंडला आदि अनेक नर्मदा तटों पर उनके समर्थकों के द्वारा इस सत्याग्रह को समर्थन दिया जा रहा है। ब्रांदाभान में सत्याग्रह से पूर्व संत भैयाजी सरकार ने कहा कि माँ नर्मदा के रिपेरियन जोन जो कि 300 मीटर में हाईकोर्ट द्वारा निर्धारित किया गया है, इस तटीय क्षेत्र को संरक्षित करने, माँ नर्मदा को जीवंत इकाई का दर्जा देने की मांग, गौ संरक्षण, गौचर विकास की मांग को लेकर सत्याग्रह जारी है। उन्होंने बताया कि नर्मदा गौ सत्याग्रह जनजागरण जन आंदोलन समिति मध्य प्रदेश के द्वारा यह सत्याग्रह किया जा रहा है। जिसमें प्रदेश के अनेक संगठन शामिल हो रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: जबलपुर रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ ने 50 लाख के साथ दो नाबालिग लड़कियों को पकड़ा

ये हैं प्रमुख मांगे

- हाईकोर्ट के आदेशानुसार नर्मदा के दोनों ओर 300 मीटर तक प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित कर तत्काल संरक्षित किया जाए।

- मां नर्मदा को जीवंत इकाई का दर्जा देकर ठोस नीति व कानून बनाए जाए।

- हरित क्षेत्र में अवैध निर्माण, अतिक्रमण, भंडारण, खनन प्रतिबंधित किया जाए। 

- अमरकंटक तीर्थ क्षेत्र में हो रहे निर्माण अतिक्रमण खनन पूर्णतः प्रतिबंधित किया जाए।

- नर्मदा के जल में मिल रहे गंदे नालों विषेले रासायनों को बंद करने व अपशिष्ट द्रव्य पदार्थों के प्रबंधन हेतु प्रभावी ठोस कार्ययोजना लागू की जाए।

- बेसहारा गौ वंश के लिए आरक्षित नगरीय निकायों की गौचर भूमि को संरक्षित किया जाए एवं अवैध अतिक्रमण निर्माण कब्जा से मुक्त कराया जाए।

- नर्मदा पथ के तटवर्ती गांव नगरों को जैवविविधता क्षेत्र घोषित कर समग्र गौ-नीति, गौ अभ्यारण बनाया जाए। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


अपने साथी बलराम की मौत के बाद हिंसक हुआ हाथी राम, दो लोगों पर किया हमला

  •  दिनेश शुक्ल
  •  नवंबर 30, 2020   22:41
  • Like
अपने साथी बलराम की मौत के बाद हिंसक हुआ हाथी राम, दो लोगों पर किया हमला
Image Source: Google

मंडला के बीजाडांडी वन परिक्षेत्र में रविवार रात उसने दो ग्रामीणों पर हमला किया। सीसीएफ जबलपुर एचडी मेहिले का कहना है कि खतरनाक हो चुके राम का रेस्क्यू करने के लिए कान्हा व पेंच के डायरेक्टर मंडला वन विभाग की टीम के साथ उसे ट्रेंक्युलाइज करने की कोशिश कर रहे हैं।

मंडला। अपने साथी बलराम की मौत के बाद हाथी राम हिंसक हो गया है। बीती रात मंडला जिले में उसने दो ग्रामीणों पर हमला कर दिया। हालांकि दोनों ही बच गए। इधर, हाथी बलराम के हिंसक होने पर वन अधिकारियों ने उसे ट्रेंक्युलाइज करके रेस्क्यू करने के प्रयास तेज कर दिये हैं। जबलपुर वन मंडल के बरगी के मोहास में हाथी बलराम (20) की शिकारियों द्वारा बिछाए गए करंट से मौत के बाद उसका साथी राम बेकाबू हो गया है। वह काफी गुस्से में है।

 

इसे भी पढ़ें: जबलपुर रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ ने 50 लाख के साथ दो नाबालिग लड़कियों को पकड़ा

मंडला के बीजाडांडी वन परिक्षेत्र में रविवार रात उसने दो ग्रामीणों पर हमला किया। सीसीएफ जबलपुर एचडी मेहिले का कहना है कि खतरनाक हो चुके राम का रेस्क्यू करने के लिए कान्हा व पेंच के डायरेक्टर मंडला वन विभाग की टीम के साथ उसे ट्रेंक्युलाइज करने की कोशिश कर रहे हैं। मंडला डीएफओ कमल अरोड़ा का कहना है कि राम हाथी की सोमवार को लोकेशन टिकरिया रेंज में मिली है। कान्हा नेशनल पार्क के डायरेक्टर एसके सिंह और पेंच के विक्रम सिंह परिहार की अगुवाई में वन विभाग की टीम टिकरिया रेंज में पहुंच चुकी है। हाथी राम को ट्रेंक्युलाइज कर कान्हा नेशनल पार्क ले जाया जाएगा। कर्नाटका के विशेषज्ञों से भी बातचीत चल रही है। 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश के शहडोल में छह बच्चों की मौत, मुख्यमंत्री ने दिए जाँच के निर्देश

जबलपुर वन विभाग का अमला बीते तीन दिनों से राम हाथी की लोकेशन पता करने में लगा था, लेकिन सफलता नहीं मिली। रविवार को उसके पग मार्क जरूर नेवास रोड पर मनेरी औद्योगिक क्षेत्र में पाए गए थे। रविवार शाम सात बजे के लगभग मनेरी से वह बीजाडांडी वन परिक्षेत्र में पहुंच गया था, जो बरगी के मोहास से 45 किमी दूर है। राम हाथी सबसे पहले बीजाडांडी क्षेत्र के भैसवाही गांव निवासी भगत सिंह बैगा (45)  के खलिहान में घुस आया। उसने भगत सिंह के पीठ पर दांत से हमला कर घायल कर दिया। यहां ग्रामीणों ने शोर मचाया तो वह खेतों की ओर भाग गया।

 

इसे भी पढ़ें: माँ के साथ गाली गलौज कर रहे पिता पर पुत्र ने किया प्राणघातक हमला, इलाज के दौरान हुई मौत

जबलपुर मेडिकल कॉलेज में भर्ती बीजाडांडी निवासी भगत सिंह ने बताया कि खलिहान में धान खा रहे हाथी को भैंस समझकर भगाने गए थे, तभी उसने हमला कर दिया। वहीं, नगरार गांव निवासी राजकुमार यादव (55) खेत में रखवाली करने गए थे। राम हाथी ने गुस्से में उन्हें सूंड से धक्का देकर गिरा दिया। राजकुमार यादव के मुताबिक हाथी उन्हें रौंदने के लिए आगे बढ़ा था। उसने भाग कर किसी तरह अपनी जान बचाई। हाथी ने दूर तक उसका पीछा भी किया था। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।