UP में जन्मे कमलनाथ को MP से शायद उतना लगाव नहीं है: भूपेंद्र सिंह

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 11 2018 8:40PM
UP में जन्मे कमलनाथ को MP से शायद उतना लगाव नहीं है: भूपेंद्र सिंह

सिंह ने यहां संवाददाताओं से कहा, "कमलनाथ द्वारा मध्यप्रदेश के बारे में इस तरह के शब्दों का प्रयोग करना सूबे की सात करोड़ जनता की बेइज्जती है। उनके इन शब्दों से खासतौर पर राज्य की महिलाओं का अपमान हुआ है।"

इंदौर। बलात्कार की बढ़ती घटनाओं के संदर्भ में मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की राज्य के बारे में विवादास्पद टिप्पणी को लेकर राज्य के गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने आज मूल निवासी का मुद्दा उठाते हुए उन पर निशाना साधा और कहा कि वह इस तरह की बयानबाजी इसलिये कर रहे हैं, क्योंकि मध्यप्रदेश उनकी (कमलनाथ) जन्मभूमि नहीं है। प्रदेश की भाजपा सरकार पर महिला विरोधी अपराधों पर नियंत्रण में नाकाम रहने का आरोप लगाते हुए कमलनाथ ने भोपाल में हाल ही में कथित तौर पर कहा था कि भाजपा के राज में मध्यप्रदेश "बलात्कार प्रदेश" बनता जा रहा है।

 
सिंह ने यहां संवाददाताओं से कहा, "कमलनाथ द्वारा मध्यप्रदेश के बारे में इस तरह के शब्दों का प्रयोग करना सूबे की सात करोड़ जनता की बेइज्जती है। उनके इन शब्दों से खासतौर पर राज्य की महिलाओं का अपमान हुआ है।" उन्होंने कहा, "मध्यप्रदेश कमलनाथ की जन्मभूमि नहीं है। इसलिये शायद उन्हें मध्यप्रदेश से उतना लगाव नहीं है। लेकिन जिस प्रदेश में वह रह रहे हैं, उसके बारे में गलत शब्दों का प्रयोग कतई उचित नहीं है।" 
 
गृह मंत्री ने कहा, "मैं कमलनाथ को बताना चाहता हूं कि 1993 से 2003 के बीच दिग्विजय सिंह की अगुआई वाली तत्कालीन कांग्रेस सरकार के राज में मध्यप्रदेश सबसे ज्यादा बलात्कारों के मामले में देश के नम्बर-एक राज्य के पायदान पर हुआ करता था। लेकिन हमारी भाजपा सरकार के शासन में यह स्थिति नहीं है।" कमलनाथ का जन्म उत्तरप्रदेश के औद्योगिक शहर कानपुर में 18 नवंबर 1946 को हुआ था। वह लम्बे समय से लोकसभा में मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा क्षेत्र की नुमाइंदगी कर रहे हैं।


 
सिंह ने पुलिस विभाग के कारिंदों को चेताते हुए कहा कि महिला अपराधों के खिलाफ सख्त कदम उठाने के संबंध में किसी भी स्तर के कर्मचारी की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। "इस मामले में कर्तव्य के निर्वहन में चूक करने वाले बड़े से बड़े पुलिस अफसरों को भी नहीं बख्शा जायेगा।"

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप


Related Video