UP के पूर्व मंत्री के भाई के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज

up-former-minister-s-brother-booked-for-abduction-case
इंजीनियर विशाल मणि त्रिपाठी द्वारा पुलिस से की गयी शिकायत के मुताबिक काम निपटाने के बाद वह और उसके साथी एक अन्य होटल में ठहरने चले गए थे। रविवार रात सतीश चौधरी और उनके पुत्र सौरभ होटल पहुंचे और उनसे गाली-गलौज और मारपीट की। इसके बाद उनके साथी इंजीनियर सन्तोष साहनी का अपहरण कर लिया।

बलिया। बलिया जिले में बसपा नेता और उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री अम्बिका चौधरी के दो करीबी रिश्तेदारों के खिलाफ एक निजी कम्पनी के इंजीनियर के अपहरण के मामले में मुकदमा दर्ज कर उनमें से एक को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ ने बलिया शहर कोतवाली में आज दर्ज मुकदमे का हवाला देते हुए बताया कि गोरखपुर स्थित एक निजी कम्पनी में कार्यरत आठ इंजीनियर 27 जुलाई को बलिया जिले के फेफना थाना क्षेत्र में स्थित एक होटल में एयर कंडीशनर की खराबी दूर करने आए थे। यह होटल पूर्व मंत्री अम्बिका चौधरी के चचेरे भाई सतीश चौधरी का है। 

इसे भी पढ़ें: फागू चौहान को बिहार का राज्यपाल बनने पर UP विधानसभा ने दी बधाई

इंजीनियर विशाल मणि त्रिपाठी द्वारा पुलिस से की गयी शिकायत के मुताबिक काम निपटाने के बाद वह और उसके साथी एक अन्य होटल में ठहरने चले गए थे। रविवार रात सतीश चौधरी और उनके पुत्र सौरभ होटल पहुंचे और उनसे गाली-गलौज और मारपीट की। इसके बाद उनके साथी इंजीनियर सन्तोष साहनी का अपहरण कर लिया। 

इसे भी पढ़ें: फागू चौहान को बिहार का राज्यपाल बनने पर UP विधानसभा ने दी बधाई

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि बलिया शहर कोतवाली में सतीश चौधरी और उनके बेटे सौरभ के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करके अपहृत सन्तोष साहनी को सतीश के होटल से मुक्त करा लिया। साथ ही सौरभ को गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने बताया कि शुरुआती पड़ताल में पता चला है कि सतीश इंजीनियरों के काम से संतुष्ट नहीं थे, इसीलिये उन्होंने इस घटना को अंजाम दिया। बहरहाल, मामले की जांच की जा रही है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़