ग्रामीण विकास में कुछ अच्छा योगदान करने की इच्छा है : जागृति अवस्थी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 25, 2021   06:09
ग्रामीण विकास में कुछ अच्छा योगदान करने की इच्छा है : जागृति अवस्थी
प्रतिरूप फोटो

सिविल सेवा परीक्षा, 2020 में दूसरा स्थान हासिल करने से गदगद भोपाल की जागृति अवस्थी ने छात्रों को सफलता का मंत्र देते हुए कहा, ‘‘मेहनत करते रहिए। अपने आप पर भरोसा रखें। सफलता जरूर मिलेगी।’’ अवस्थी ने बताया, ‘‘इस परीक्षा को पास करने के बाद अब मेरा सामाजिक क्षेत्र में कार्य करने का सपना पूरा होगा।

 प्रतिष्ठित सिविल सेवा परीक्षा, 2020 में दूसरा स्थान हासिल करने से गदगद भोपाल की जागृति अवस्थी ने शुक्रवार को कहा कि ‘मेरी ग्रामीण विकास में कुछ अच्छा योगदान करने की इच्छा है’। शुभम कुमार ने प्रतिष्ठित सिविल सेवा परीक्षा, 2020 में शीर्ष स्थान हासिल किया है, जबकि जागृति अवस्थी ने दूसरा स्थान हासिल किया है।

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने परीक्षा के परिणाम शुक्रवार को जारी किए। परिणाम आने के कुछ ही देर बाद अवस्थी ने ‘भाषा’ को बताया, ‘‘मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, भोपाल से बीटेक करने के बाद मैंने भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) भोपाल में इंजीनियरिंग की नौकरी वर्ष 2017 से वर्ष 2019 तक की। लेकिन बचपन से ही मेरा कलेक्टर बनने का सपना था और सामाजिक क्षेत्र में कार्य करने की इच्छा थी।’’

उन्होंने कहा कि इसलिए इंजीनियर की नौकरी लगने के बाद भी मैं प्रशासनिक सेवा परीक्षा की तैयारी करने लगी। जब पहले प्रयास में मेरा इस परीक्षा में चयन नहीं हो पाया, तो तब मुझे लगा की इंजीनियर की नौकरी छोड़कर तैयारी करनी चाहिए। अवस्थी ने बताया, ‘‘इसके बाद मैंने वर्ष 2019 में भेल की नौकरी छोड़ दी और इस परीक्षा की और कड़ी मेहनत करने लगी।

इस दौरान कोरोना वायरस की महामारी आ गई, जिससे अपनी तैयारी करने के लिए और समय मिल गया और दूसरी प्रयास में ही सफल हो गई।’’ उन्होंने छात्रों को सफलता का मंत्र देते हुए कहा, ‘‘मेहनत करते रहिए। अपने आप पर भरोसा रखें। सफलता जरूर मिलेगी।’’ अवस्थी ने बताया, ‘‘इस परीक्षा को पास करने के बाद अब मेरा सामाजिक क्षेत्र में कार्य करने का सपना पूरा होगा।

मेरी ग्रामीण विकास में कुछ अच्छा योगदान करने की इच्छा है।’’ अवस्थी के अलावा, भोपाल के अर्थ जैन ने भी इस प्रतिष्ठित परीक्षा में 16वीं रैंक हासिल की है, जबकि मध्य प्रदेश के जबलपुर की अहिंसा जैन ने 53वीं एवं होशंगाबद के अभिषेक खंडेलवाल ने 167वीं रैंक हासिल की है।

इस परीक्षा में कुल 761 उम्मीदवार उत्तीर्ण हुए हैं जिनमें 545 पुरुष और 216 महिलाएं हैं। दूसरे प्रयास में अपनी सफलता से उत्साहित आईआईटी दिल्ली के स्नातक अर्थ जैन ने कहा, ‘‘मैं देश के विकास के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करूंगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।