उत्तर प्रदेश की बड़ी खबरें: उत्तर प्रदेश में कोरोना के 5 नए मामले दर्ज, 16 लाख से अधिक व्यक्ति हुए ठीक

उत्तर प्रदेश की बड़ी खबरें: उत्तर प्रदेश में कोरोना के 5 नए मामले दर्ज, 16 लाख से अधिक व्यक्ति हुए ठीक

उत्तर प्रदेश के मत्स्य विभाग द्वारा प्रदेश में विश्व मात्स्यिकी दिवस का आयोजन कल 21 नवम्बर 2021 को वृहद रूप से गोष्ठी के माध्यम से प्रदेश के समस्त जनपदों एवं मण्डलों में किया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 05 नये मामले आये है। अब तक कुल 8,62,30,407 सैम्पल की जांच की गयी है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार में अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,27,461 सैम्पल की जांच की गयी है। जिसमें कोरोना संक्रमण के 05 नये मामले आये है। प्रदेश में अब तक कुल 8,62,30,407 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 07 तथा अब तक कुल 16,87,313 लोग कोविड-19 से ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना के कुल 100 एक्टिव मामले हैं। उन्होंने बताया कि कोविड वैक्सीनेशन का कार्य निरन्तर किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में 12,09,949 डोज दी गयी। प्रदेश मंे कल तक पहली डोज 10,46,89,576 तथा दूसरी डोज 4,20,70,308 लगायी गयी हैं। कल तक कुल 14,67,59,884 कोविड डोज दी गयी है। प्रसाद ने बताया कि कोविड संक्रमण अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए सभी लोग कोविड अनुरूप आचरण करे। टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन अवश्य करें। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर कोविड हेल्पलाइन 18001805145 पर सम्पर्क करे।

 

इसे भी पढ़ें: एक ने इतिहास में 3 प्रधानमंत्री दिए तो दूसरे ने वर्तमान में पीएम और सीएम, जानें पूर्वांचल-अवध में कौन बाजी मारता दिख रहा  

विश्व मात्स्यिकी दिवस 

उत्तर प्रदेश के मत्स्य विभाग द्वारा प्रदेश में विश्व मात्स्यिकी दिवस का आयोजन कल 21 नवम्बर 2021 को वृहद रूप से गोष्ठी के माध्यम से प्रदेश के समस्त जनपदों एवं मण्डलों में किया जा रहा है। इस अवसर पर मात्स्यिकी के क्षेत्र की वृहद जानकारी मत्स्य विकास की संभावनाओं, मत्स्य पालन से संबंधित गतिविधियों हेतु अभियान के रूप में किसान क्रेडिट कार्ड से आच्छादित किये जाने के सम्बन्ध में जागरूकता एवं मत्स्य विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के सम्बन्ध में जानकारी दी जायेगी। मत्स्य विभाग के निदेशक, डॉ0 सरोज कुमार द्वारा यह जानकारी देते हुए बताया गया कि विश्व मात्स्यिकी दिवस के अवसर पर गोष्ठी के माध्यम से मत्स्य कृषकों, व्यवसायियों एवं उद्यमियों आदि को मत्स्य किसान क्रेडिट कार्ड हेतु जन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित कराया जाएगा। प्रदेश के अधिक से अधिक मत्स्य कृषक/मत्स्य पालक, उद्यमी, मत्स्य व्यवसायी आदि लोग विभाग द्वारा आयोजित किये जा रहे गोष्ठी के माध्यम से जुड़कर विभाग द्वारा संचालित योजनाओं/कार्यक्रमों एवं मात्स्यिकी के क्षेत्र की नवीनतम जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

 

लखनऊ को Best inland Quasi-Government Organization के रूप में किया जाएगा सम्मानित

विश्व मात्स्यिकी दिवस दिनांक 21 नवम्बर, 2021 के अवसर पर भारत सरकार के मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय, मत्स्य पालन विभाग एवं राष्ट्रीय मात्स्यिकी विकास बोर्ड, हैदराबाद के तत्वावधान में भुवनेश्वर उड़ीसा में मत्स्य सेक्टर में अग्रणी भूमिका एवं उत्कृष्ट कार्य सम्पादित करने वाले राज्य/व्यक्ति/संगठनों को सम्मानित किये जाने हेतु आयोजित सम्मान समारोह में उत्तर प्रदेश राज्य से उ0प्र0 मत्स्य जीवी सहकारी संघ लि0, लखनऊ द्वारा सम्पादित किये गये उतकृष्ट कार्यों के परिणाम स्वरूप भारत सरकार द्वारा उ0प्र0 मत्स्य जीवी सहकारी संघ लि0, लखनऊ को  ठमेज पदसंदक फनंेप.ळवअमतदउमदज व्तहंदप्रंजपवद के रूप में सम्मानित किये जाने का निर्णय लिया गया है, जिसमें  प्रमाण-पत्र के साथ वित्तीय पारितोषिक के रूप में रू0 5.00 लाख एक शाल एवं मोमेन्टों प्राप्त होगा। यह जानकारी आज यहां विशेष सचिव, मत्स्य एवं निदेशक मत्स्य डा0 सरोज कुमार द्वारा दी गई। उन्होंनें बताया कि प्रदेश के जनपद बाराबंकी के मत्स्य पालक मोहम्मद आसिफ सिद्दकी को मात्स्यिकी के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य किये जाने के फलस्वरूप भारत सरकार द्वारा मोहम्मद आसिफ सिद्दकी को  ठमेज पदसंदक पिेी ंितउमत सम्मान से सम्मानित किया जायेगा, जिसमें मोहम्मद आसिफ सिद्दकी को भारत सरकार द्वारा प्रमाण पत्र के साथ-साथ वित्तीय पारितोषिक के रूप में रू0 2.00 लाख, एक शाल एवं एक मोमेंटों प्राप्त होगा। प्रदेश में मत्स्य सेक्टर में उद्यमिता के विकास की श्रेणी में जनपद गाजियाबाद के उद्यमी  रजनीश कुमार द्वारा उत्कृष्ट कार्य किये जाने के फलस्वरूप भारत सरकार द्वारा उन्हें  ठमेज म्दजतमचतमदमनत.चतवचतपमजंतल पितउ के रूप में सम्मानित किये जाने का निर्णय लिया गया है, जिसमें उन्हें  प्रमाण-पत्र के साथ-साथ आर्थिक पारितोषिक के रूप में रू0 1.00 लाख एवं एक शाल एवं मोमेन्टों प्राप्त होगा। विश्व मात्स्यिकी दिवस के अवसर पर भारत सरकार के मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय, मत्स्य पालन विभाग एवं राष्ट्रीय मात्स्यिकी विकास बोर्ड, हैदराबाद के तत्वावधान में भुवनेश्वर उड़ीसा में आयोजित सम्मान समारोह में उ0प्र0 मत्स्य जीवी सहकारी संघ लि0, लखनऊ की ओर से कार्यक्रम में सम्मान प्राप्त करने हेतु संघ के सभापति वीरू साहनी एवं प्रबन्ध निदेशक  मोनिषा सिंह द्वारा प्रतिभाग किया जा रहा है, साथ ही प्रदेश से उत्कृष्ट मत्स्य पालक कृषक के रूप में सम्मान प्राप्त करने हेतु मोहम्मद आसिफ सिद्दकी, जनपद बाराबंकी एवं उत्कृष्ठ उद्यमी के रूप में सम्मान प्राप्त करने हेतु  रजनीश कुमार, जनपद गाजियाबाद द्वारा  प्रतिभाग किया जा रहा है। प्रदेश में मत्स्य पालन क्षेत्र से जुड़े उत्कृष्ट मत्स्य पालक/उद्यमी एवं मत्स्य सहकारी संघ के राष्ट्र स्तर पर सम्मानित होने पर प्रमुख सचिव, मत्स्य उ0प्र0, शासन  सुधीर कुमार गर्ग द्वारा प्रसन्नता व्यक्त करते हुये प्रदेश के मत्स्य पालकों को बधाई दी गयी है। इस अवसर पर प्रदेश को उक्त पुरस्कार प्राप्त होने पर प्रदेश के मत्स्य पालकों/मत्स्य उद्यमियों/व्यवसायियों एवं मात्स्यिकी क्षेत्र से जुड़ी समस्त संस्थाओं को बधाई देते हुये प्रदेश को मत्स्य सेक्टर में और आगे बढ़ाने का आह्वान किया गया है।

इसे भी पढ़ें: PM मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी को मिला गंगा किनारे बसे सबसे स्वच्छ शहर का खिताब  

प्राविधिक शिक्षा मंत्री के निर्देश पर आदेश हुआ जारी

प्रदेश के समस्त राजकीय/अनुदानित पालीटेक्निक संस्थान सम्बन्धित संस्थान की आधिकारिक वेबसाइट पर उत्तर प्रदेश शासन की प्रवेश एवं फीस नियमन समिति द्वारा निर्धारित शुल्क की सूचना पाठ्यक्रमानुसार संस्थान की वेबसाइट पर अनिवार्य रूप से प्रदर्शित करें। यह निर्देश प्रदेश के प्राविधिक शिक्षा मंत्री,  जितिन प्रसाद ने आज यहॉ दिये। उन्होंने कहा कि किसी भी छात्र/छात्रा को फीस सम्बन्धी कोई भी समस्या हो तो अपनी शिकायत सम्बन्धित संस्थान की वेबसाइट पर दर्ज करा सकते हैं। सम्बन्धित संस्थान छात्र/छात्राओं द्वारा दर्ज समस्या का त्वरित निस्तारण कराना सुनिश्चित करेंगे। कतिपय संस्थानों द्वारा प्रवेश एवं फीस सम्बन्धी सूचना संस्थान की वेबसाइट पर प्रदर्शित न किये जाने के कारण ही यह आदेश जारी किया गया है। इससे प्रवेश एवं फीस नियमन समिति द्वारा दी गयी पारदर्शी व्यवस्था से छात्र/छात्राओं को पूर्ण लाभ प्राप्त होगा। इस सम्बन्ध में निदेशक, प्राविधिक शिक्षा विभाग ने आदेश जारी कर दिये हैं। आदेशानुसार किसी छात्र/छात्रा को शुल्क सम्बन्धी कोई शिकायत हो तो विभागीय यूराइज-पोर्टल/वेबसाइट https://urise.up.gov.in  पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।