जहरीली शराब कांड पर बोले योगी, ऐसी सजा दिलाएंगे जो आने वाले समय में बने मिसाल

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Feb 11 2019 7:48PM
जहरीली शराब कांड पर बोले योगी, ऐसी सजा दिलाएंगे जो आने वाले समय में बने मिसाल
Image Source: Google

उत्तर प्रदेश में जहरीली शराब पीने से हुई मौत पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि कुछ लोग प्रदेश का माहौल खराब करने का षडयंत्र कर रहे हैं लेकिन हम दोषियों को ऐसी सजा दिलाएंगे कि आने वाले समय में इस तरह के षडयंत्रकारियों के लिए वह सबक बने।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में जहरीली शराब पीने से हुई मौत पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि कुछ लोग प्रदेश का माहौल खराब करने का षडयंत्र कर रहे हैं लेकिन हम दोषियों को ऐसी सजा दिलाएंगे कि आने वाले समय में इस तरह के षडयंत्रकारियों के लिए वह सबक बने। योगी ने विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि कुछ लोग प्रदेश का माहौल खराब करने का षडयंत्र कर रहे हैं। उन्होंने कुशीनगर और सहारनपुर जिलों में जहरीली शराब से हुई मौतों पर कहा कि घटना दुखद है लेकिन हम इसकी तह तक जाएंगे और पता लगाएंगे कि इसके पीछे कौन लोग हैं... जो गरीबों और नागरिकों के जीवन के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: उत्तराखंड-UP में जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या 85 के पार

मुख्यमंत्री ने कहा कि जो भी दोषी होगा, उसे ऐसी सजा दिलाएंगे कि आने वाले समय में इस तरह के षडयंत्रकारियों के लिए वह सबक बने। हमारी सरकार पूरी प्रतिबद्धता के साथ ऐसे तत्वों से सख्ती से निपटेगी। उन्होंने कहा कि जहरीली शराब की पिछली चार घटनाएं ऐसी हुईं, जिनमें सपा के लोग षडयंत्र में शामिल रहे हैं। आजमगढ, हरदोई, बाराबंकी और कानपुर की घटनाओं में आरोपी सपा से जुडे रहे हैं। राममंदिर मुद्दे पर योगी ने कहा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए और न्यायालय को जन आस्था का सम्मान करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब इलाहाबाद उच्च न्यायालय की तीन सदस्यीय विशेष पीठ ने कहा है कि जहां रामलला विराजमान हैं, वहीं राम जन्मभूमि है तो विवाद वहीं समाप्त हो चुका है और बंटवारे का कहीं विवाद ही नहीं है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि विवाद में केवल यह तय होना था कि यह राम जन्मभूमि है या नहीं है और जब यह तय हो गया है तो फिर इस विवाद के समाधान में 24 घंटे से 25वां घंटा नहीं लगना चाहिए। निराश्रित गोवंश के बारे में उन्होंने कहा, ‘पहले निराश्रित गोवंश चोरी कर अवैध बूचडखानों में पहुंचाये जाते थे और उन्हें वहां काटा जाता था। हमारी सरकार ने अवैध बूचड़खानों को रोका तो गोवंश खेतों या सडकों पर हैं। हम गोवंश के संरक्षण एवं संवर्धन की व्यवस्था कर रहे हैं। तीन लाख निराश्रित गोवंश को अलग अलग जिलों में आश्रयस्थलों में रखा गया है।’ सपा—बसपा को आडे हाथ लेते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘पिछली सरकारों ने प्रदेश में जिस प्रकार का कॉरिडोर बनाने का प्रयास किया था, वह भ्रष्टाचार और आराजकता का गलियारा था। प्रदेश का कोई ऐसा गुंडा, माफिया और समाजविरोधी तत्व नहीं था जो पिछली सरकारों का हमदर्द ना रहा हो।’

इसे भी पढ़ें: हंगामे की भेंट चढ़ी राज्यसभा की कार्यवाही, बैठक दिन भर के लिए स्थगित

उन्होंने कहा कि हमने भी एक कॉरिडोर दिया है। सुरक्षा का, विकास का और 15 फरवरी को प्रधानमंत्री से झांसी में डिफेंस कॉरिडोर का भी शिलान्यास कराने जा रहे हैं। योगी ने कहा कि आश्चर्य होता है कि विपक्ष को सरकार की उपलब्धियां और प्रदेश की जनता की खुशहाली अच्छी नहीं लगती है। यही कारण है कि किसी भी अच्छे कार्य को नैतिक समर्थन देने की बजाय उसका विरोध करना विपक्ष की आदत बन गयी है। ठीक ही कहा है कि चांदनी रात चोरों को अच्छी नहीं लगती है। उन्होंने कहा, ‘विपक्ष के लोग सदन से क्यों भागे हैं। उन्हें पता है कि जवाब देते समय हम जो रहस्योदघाटन करेंगे, उसका मुकाबला करने का नैतिक साहस उनमें नहीं है। ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि ऐसे लोग हमेशा ही सदन से बाहर रहें तो अच्छा है। 



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video