माता के भक्तों को मोदी सरकार का तोहफा, दिल्ली-कटरा रूट पर चलेगी वंदे भारत एक्सप्रेस

vande-bharti-express-to-run-on-delhi-katra-route
अंकित सिंह । Jun 28, 2019 4:18PM
इस ट्रेन के संचालन के लिए रेलवे ने समय सारिणी भी तैयार कर ली है। यह ट्रेन नई दिल्ली से सुबह 6 बजे चलकर दोपहर 2 बजे श्री माता वैष्णो देवी कटरा रेलवे स्टेशन पहुंचेगी।

अगर आप मां भवानी के दर्शन के लिए दिल्ली से कटरा तक की सफर करना चाहते हैं तो आपके लिए एक अच्छी खबर है। देश की पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस अब दिल्ली और कटरा के बीच चलेगी। यह खबर वैष्णो देवी की यात्रा करने वाले तीर्थयात्रियों के चेहरे पर मुस्कान ला सकती है। दिल्ली-कटरा के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस को चलाने के लिए रेलवे ने मंजूरी दे दी है और जल्द ही इसका ट्रायल किया जाएगा। बजट में इसे चलाने की घोषणा की जा सकती है। यह ट्रेन 655 km की दूरी महज 8 घंटे में पूरी करेगी। पीएम मोदी ने जुलाई 2014 में कटरा-उधमपुर ट्रेन रूट की शुरूआत की थी। जम्मू से कटरा की दूरी लगभग 78 km है। फिलहाल देश के विभिन्न हिस्सों से कटरा तक करीब 20 ट्रेनें चल रही हैं।

इसे भी पढ़ें: महिलाओं के लिए AAP का बड़ा ऐलान, फ्री होगा बस, मेट्रो का सफर

इस ट्रेन के संचालन के लिए रेलवे ने समय सारिणी भी तैयार कर ली है। यह ट्रेन नई दिल्ली से सुबह 6 बजे चलकर दोपहर 2 बजे श्री माता वैष्णो देवी कटरा रेलवे स्टेशन पहुंचेगी। रास्ते में वंदे भारत एक्सप्रेस का तीन जगहों पर ठहराव होगा। गाड़ी 8.10 बजे अंबाला, 9.22 बजे लुधियाना और 12.40 बजे जम्मू तवी पहुंचेगी। वापसी के लिए वंदे भारत एक्सप्रेस कटरा से शाम 3 बजे रवाना होकर 4.20 में जम्मूतवी, 7.36 बजे लुधियाना और 8.56 बजे अंबाला पहुंचेगी। रात 11 बजे इसका नई दिल्ली स्टेशन पर आगमन होगा। 

इसे भी पढ़ें: पेरिस की हाई स्पीड ट्रेन फंसी सुरंग में, करीब 6 घंटे तक सुरंग के भीतर फंसे रहे यात्री

वंदे भारत एक्सप्रेस की अधिकतम गति 200 किलोमीटर प्रति घंटे हैं। फिलहाल सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए वंदे भारत एक्सप्रेस को अभी अधिकतम 130 किमी प्रति घंटे की गति से ही चलाया जाएगा। दिल्ली-बनारस रुट पर भी चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस इसी गति से चलाई जा रही हैं। मोदी सरकार की धीरे-धीरे इस ट्रेन को विस्तार देने की योजना है। ऐसी खबरे हैं कि जल्द ही वंदे भारत एक्सप्रेस मुंबई और शिरडी के बीच शुरू की जा सकती है। 

इसे भी पढ़ें: 2020 तक वैष्णो देवी मंदिर का अपना आपदा प्रतिक्रिया बल होगा

आपको बता दें कि मेक इन इंडिया अभियान के तहत बनी इस ट्रेन को पहले T-18 नाम दिया गया था। अगर वाराणसी रूट में चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस की बात करें तो फरवरी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर शुरू किया था। इस ट्रेन में सुरक्षा और उच्च तकनीकि पर भी विशेष ध्यान दिया गया है। ट्रेन पूरे तरीके से सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में है और जरूरत पड़ने पर यात्री लोको पायलट से बात कर सकता है। ट्रेन-18 में वाई-फाई की सुविधा उपलब्ध है। वंदे भारत एक्सप्रेस पूर्ण रूप से देश में निर्मित ट्रेन है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़