छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस प्रकोप के कारण विभिन्न प्रवेश परीक्षाएं हुईं रद्द

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 27, 2020   11:31
छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस प्रकोप के कारण विभिन्न प्रवेश परीक्षाएं हुईं रद्द

कोविड-19 महामारी के कारण, प्रवेश परीक्षाएं- प्री-इंजीनियरिंग टेस्ट (पीईटी), प्री-फार्मेसी टेस्ट (पीपीएचटी), प्री पॉलिटेक्निक टेस्ट (पीपीटी) और प्री-मास्टर्स ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन (पीएमसीए) शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए आयोजित नहीं किए जाएंगे।

रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार ने रविवार को कोरोना वायरस प्रकोप के कारण शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए इंजीनियरिंग और फार्मेसी सहित विभिन्न पेशेवर पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षाएं रद्द कर दी। एक अधिकारी ने बताया कि राज्य के कौशल विकास एवं तकनीकी शिक्षा विभाग द्वारा जारी एक आदेश में कहा गया है कि इन पाठ्यक्रमों में प्रवेश पिछले शैक्षणिक पाठ्यक्रमों में प्राप्त अंकों के आधार पर किया जाएगा। आदेश में कहा गया कि कोविड-19 महामारी के कारण, प्रवेश परीक्षाएं- प्री-इंजीनियरिंग टेस्ट (पीईटी), प्री-फार्मेसी टेस्ट (पीपीएचटी), प्री पॉलिटेक्निक टेस्ट (पीपीटी) और प्री-मास्टर्स ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन (पीएमसीए) शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए आयोजित नहीं किए जाएंगे। 

इसे भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में 45 गायों की मौत, प्रतिपक्ष ने उठाए सवाल

उसमें कहा गया कि तकनीकी पाठ्यक्रमों, मुख्य रूप से बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग (बीई), बैचलर ऑफ फार्मेसी (बी.फार्मा), डिप्लोमा इन फार्मेसी, डिप्लोमा इन इंजीनियरिंग और मास्टर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन (एमसीए) में प्रवेश पिछली शैक्षणिक योग्यता में प्राप्त अंकों के आधार पर होगा। अधिकारी ने बताया कि इन पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए सटीक मापदंड राज्य तकनीकी शिक्षा निदेशालय (डीटीई) द्वारा जारी किए जाएंगे। प्रवेश प्रक्रिया ऑनलाइन काउंसलिंग के माध्यम से आयोजित की जाएगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।