सत्ता में बैठे लोग कुर्सी की चिंता में जनता की चिंता भूल गये हैं : वसुंधरा राजे

Vasundhara Raje img
प्रतिरूप फोटो
ANI
भारतीय जनता पार्टी की नेता और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने रविवार को प्रदेश की कांग्रेस नीत सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सत्ता में बैठे लोगों को केवल कुर्सी की चिंता है, वे जनता की चिंता करना भूल गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य अराजकता के दौर से गुजर रहा है और लोगों की सुनने वाला कोई नहीं है।

जयपुर, 29 अगस्त। भारतीय जनता पार्टी की नेता और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने रविवार को प्रदेश की कांग्रेस नीत सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सत्ता में बैठे लोगों को केवल कुर्सी की चिंता है, वे जनता की चिंता करना भूल गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य अराजकता के दौर से गुजर रहा है और लोगों की सुनने वाला कोई नहीं है। राजे ने एक समारोह को संबोधित करते हुए अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनायीं। उन्होंने कहा, ‘‘प्रदेश अराजकता के दौर से गुज़र रहा है। यहाँ न कोई सुनने वाला, न कोई देखने वाला और नहीं कोई जनता की पीड़ा को समझने वाला है।’’

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘जो प्रदेश हमारे समय शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, विद्युत और जल संरक्षण में देश में आगे था, वह आज अपराध, महिला उत्पीड़न, दलित अत्याचार, भ्रष्टाचार, साम्प्रदायिक उन्माद में पहले नम्बर पर है। सत्ता में बैठे लोग कुर्सी की चिंता में जनता की चिंता भूल गये हैं।’’ उन्होंने कहा कि हमारी भाजपा सरकार ने चित्तौड़गढ़ ज़िले के मातृकुंडिया में भगवान परशुराम का स्मारक बनाया था। राजे ने कहा, ‘‘जो पार्टी अच्छा काम करे उसे दोबारा अवसर मिलना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

हमें दोबारा अवसर मिलता तो अधूरे काम पूरे होते और हमारा प्रदेश विकास की दृष्टि से बहुत आगे होता। जबकि आज पिछड़ रहा है।’’ उन्होंने लोगों से अपील किया कि जिन लोगों ने प्रदेश को विकास में पीछे धकेला है, अब उन्हें मौका ना दें। कार्यक्रम में पूर्व मंत्री काली चरण सर्राफ, सांसद रामचरण बोहरा, भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी, महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष सुमन शर्मा मौजूद थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़