संसदीय समितियों के अध्यक्षों-सदस्यों से बोले उपराष्ट्रपति नायडू, सूचनाएं मीडिया को लीक करने से बचें

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 27, 2020   15:05
संसदीय समितियों के अध्यक्षों-सदस्यों से बोले उपराष्ट्रपति नायडू, सूचनाएं मीडिया को लीक करने से बचें

सभापति नायडू ने कहा, ‘समिति के सदस्यों या कार्यवाही से जुड़े किसी को भी इस बात की अनुमति नहीं होती है कि वह कार्यवाही, किसी रिपोर्ट का हिस्सा या समिति के निष्कर्ष से जुड़ी सूचना मीडिया को प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से प्रदान करे जब तक कि रिपोर्ट सदन में प्रस्तुत नहीं हो गई हो।

नयी दिल्ली। राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने संसदीय समितियों के अध्यक्षों एवं सदस्यों से कहा कि वे समिति की बैठकों से जुड़ी गोपनीय सूचनाएं मीडिया के उपलब्ध कराने से बचें। संसदीय समितियों के अध्यक्षों को लिखे पत्र में नायडू ने कहा कि ऐसा पाया गया है कि मीडिया समिति की कार्यवाही के दौरान विचार किये गए विषयों या विधेयकों से जुड़ी बातों को रिपोर्ट में उद्धृत करती है। नायडू ने अपने पत्र में कहा, ‘‘क्या आप इस बात से अवगत हैं कि समिति की बैठकें गोपनीय होती हैं। समिति के सदस्यों या कार्यवाही से जुड़े किसी को भी इस बात की अनुमति नहीं होती है कि वह कार्यवाही, किसी रिपोर्ट का हिस्सा या समिति के निष्कर्ष से जुड़ी सूचना मीडिया को प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से प्रदान करे जब तक कि रिपोर्ट सदन में प्रस्तुत नहीं हो गई हो। ऐसा कोई कदम सदन के विशेषाधिकार हनन का होगा। ’’ 

इसे भी पढ़ें: वेंकैया नायडू ने #HumanCalculator के साथ साझा किया पोस्ट, कहा- प्रकाश ने भारत का गौरव बढ़ाया

राज्यसभा के सभापति का यह कदम ऐसे समय में सामने आया है जब कुछ ही दिन पहले लोकसभा अध्यक्ष ने ऐसा ही एक पत्र संसदीय समितियों के अध्यक्षों को लिखा था और उनसे समिति की बैठकों की गोपनीयता सुनिश्चित करने को कहा था। नायडू ने कहा,‘‘ मैं आपसे आग्रह करता हूं कि आप अपनी समिति से जुड़े सदस्यों और कार्यवाही से जुड़े लोगों को गोपनीयता से जुड़े वर्तमान प्रावधान/निर्देशों का सख्ती से पालन करने को कहें और जब तक रिपोर्ट सदन में पेश नहीं होती है तब तक मीडिया को कोई सूचना देने से बचे। ’’ इस पत्र का ऐसे समय में महत्व काफी बढ़ गया है जब लोक लेखा समिति (पीएसी) और सूचना प्रौद्योगिकी पर संसद की स्थायी समिति के अध्यक्ष और समिति में भाजपा के सदस्यों के बीच विचार के लिये विषयों के चयन के मुद्दे पर नोकझोंक की स्थिति रही हैं। पीएसी और सूचना प्रौद्योगिकी पर संसद की स्थायी समिति के अध्यक्ष कांग्रेस पार्टी से हैं। सत्तारूढ़ पार्टी के सदस्यों का आरोप है कि कांग्रेस पार्टी से समिति के अध्यक्षों ने समिति में चर्चा करने से पहले विषयों को मीडिया के लिये सार्वजनिक कर दिया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।