गोबर खाते हुए MBBS डॉक्टर का वीडियो हुआ वायरल, कई सालों से कर रहे गोमूत्र का सेवन

गोबर खाते हुए MBBS डॉक्टर का वीडियो हुआ वायरल, कई सालों से कर रहे गोमूत्र का सेवन

डॉक्टर मनोज मित्तल के मुताबिक, गाय के गोबर में भारी मात्रा में विटामिन बी 12 शामिल होता है जो इंसान को रेडिएशन से बचाए रखता है।डॉक्टर ने आगे कहा कि,मोबाइल, एसी, फ्रिज जैसी कई ऐसी चीजें है जो रेडिएशन छोड़ते हैं जिससे कैंसर जैसी बीमारी होने का खतरा होता है।

सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें एक एमबीबीएस डॉक्टर गाय का गोबर खाते हुए नजर आ रहा है। इस डॉक्टर का नाम मनोज मित्तल है और यह करनाल के रहने वाले है। आपको बता दें कि, मनोज कई सालों से गोमूत्र और गोबर का सेवन कर रहे हैं। हिंदी मीडिया चैनल आजतक से बात करते हुए डॉक्टर ने गोबर को खाने के फायदे और कई तर्क दिए है। 

इसे भी पढ़ें: गुजरात में नॉनवेज पर बवाल, सड़क किनारे से हटाए जा रहे स्टॉल, BJP प्रदेश अध्यक्ष ने दिया यह बयान

डॉक्टर मनोज मित्तल के मुताबिक, गाय के गोबर में भारी मात्रा में विटामिन बी 12 शामिल होता है जो इंसान को रेडिएशन से बचाए रखता है।डॉक्टर ने आगे कहा कि,मोबाइल, एसी, फ्रिज जैसी कई ऐसी चीजें है जो रेडिएशन छोड़ते हैं जिससे कैंसर जैसी बीमारी होने का खतरा होता है। अगर गाय के गोबर का सेवन करते है तो रेडिएशन का असर कम हो सकता है।डॉक्टर मनोज मित्तल के मुताबिक, गर्भवती महिला को डिलीवरी के समय गोबर का सेवन कर ले तो डिलीवरी नॉर्मल के चांस बहुत ज्यादा बढ़ जाते है। इसके अलावा गाय के गोबर से कई बीमारियों का इलाज होता हैं जो मनोज मित्तल करते आ रहे है। 

मनोज मित्तल कौन है

बता दें कि, डॉक्टर मनोज मित्तल करनाल में चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉक्टर हैं । डॉक्टर ने दावा किया है कि वह फर्श पर सोते है और उन्होंने कभी भी पंखा या एसी का इस्तेमाल नहीं किया है। मनोज के मुताबिक, गाय के गोबर में 28 फीसदी ऑक्सीजन होता है जिससे आपकी सेहत सही रह सकती है। डॉक्टर की इस वायरल वीडियो के बाद से लोग उनपर कई कमेंट कर रहे और कोई उनकी डिग्री पर भी सवाल उठा रहे है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।