मेरठ में विधायक के गनर और महिला की सरेराह मारपीट का विडिओ वायरल,पीड़िता ने एसएसपी से लगायी न्याय की गुहार

मेरठ में विधायक के गनर और महिला की सरेराह मारपीट का विडिओ वायरल,पीड़िता ने एसएसपी से लगायी न्याय की गुहार

मेरठ में एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में भाजपा विधायक का गनर एक महिला को थप्पड़ जड़ रहा है। इस मामले में महिला ने एसएसपी से शिकायत की है।

मेरठ,उत्तर प्रदेश के मेरठ में बीजेपी विधायक संगीत सोम के गनर की दबंगई का मामला सामने आया है. सिपाही सत्येंद्र ने बेहद मामूली विवाद में कंकरखेड़ा क्षेत्र की राजनगर कॉलोनी निवासी एक महिला को जमकर पीटा। यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है, जिसमें सत्येंद उस महिला को एक के बाद एक कई थप्पड़ लगाते दिख रहा है। पीड़िता ने कार्रवाई नहीं होने पर मंगलवार को एसएसपी से मामले की शिकायत की है।

दरहसल,कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र के राजनगर कालोनी निवासी नगेंद्र आर्मी में दरोगा हैं। वह इस समय आगरा में तैनात हैं। उनकी पत्नी सविता अपने दो बेटों के साथ मेरठ में रह रही हैं। महिला ने बताया की मकान के सामने एक खाली प्लॉट है। पड़ोस में सिपाही सतेंद्र पुंडीर अपने परिवार के साथ रह रहा है। सतेंद्र भाजपा विधायक संगीत सोम की सुरक्षा में तैनात है। रविवार को महिला का सामने के प्लॉट में कपड़े सुखाने को लेकर सिपाही से विवाद हो गया। जिसके बाद दोनों में कहासुनी हो गई। सिपाही ने महिला को सरेआम बीच सड़क पर थप्पड़ जड़ दिए। पड़ोसी द्वारा अपने मकान की छत से पूरे घटनाक्रम की वीडियो बना लिया गया। वीडियो में 25-30 लोग नजर आ रहे हैं जो सिर्फ तमाशबीन बने रहे। बाद में एक युवक ने मौके पर पहुंचकर बीच बचाव कराया। 

महिला का आरोप है कि सहारनपुर निवासी सिपाही सत्येंद्र जो भाजपा विधायक संगीत सोम का गनर है। उन्हें आए दिन वर्दी का रौब दिखाता है। तीन दिन पहले सिपाही ने महिला के साथ गाली-गलौज की थी। अब रविवार को विरोध करने पर सिपाही ने उनके साथ मारपीट भी की। वहीं पीड़िता ने कार्रवाई की मांग को थाने में तहरीर भी दी लेकिस तीन दिन बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। मंगलवार को पीड़िता ने एसएसपी से मामले की शिकायत करते हुए न्याय की गुहार लगाई है। मामले में एसएसपी ने सिपाही पर जांच बैठा दी है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...