विजय रूपाणी का दावा, गुजरात में कोरोना की स्थिति अन्य राज्यों से बेहतर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 29, 2020   18:47
विजय रूपाणी का दावा, गुजरात में कोरोना की स्थिति अन्य राज्यों से बेहतर

मंगलवार को गुजरात में 1108 मामले आए, जबकि आंध्रप्रदेश में 7948, महाराष्ट्र में 7717, तमिलनाडु में 6972 और कर्नाटक में 5536 मामले आए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘नए मामलों के हिसाब से गुजरात 12 वें स्थान पर है। एक समय हमारे यहां मृत्यु दर देश में सबसे ज्यादा सात प्रतिशत थी।

अहमदाबाद। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने बुधवार को कहा कि ठीक होने की दर 74 प्रतिशत और मृत्यु दर चार प्रतिशत के साथ गुजरात में कोरोना वायरस की स्थिति कई अन्य राज्यों से बेहतर है। राज्य में मंगलवार को सामने आए कोविड-19 के 1100 से ज्यादा मामलों का हवाला देते हुए रूपाणी ने कहा कि संक्रमण के नए मामलों के हिसाब से गुजरात 12 वें स्थान पर है। अहमदाबाद से करीब 200 किलोमीटर दूर राजकोट में उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘देश में हर दिन कोविड-19 के करीब 50,000 मामले आ रहे हैं।

मंगलवार को गुजरात में 1108 मामले आए, जबकि आंध्रप्रदेश में 7948, महाराष्ट्र में 7717, तमिलनाडु में 6972 और कर्नाटक में 5536 मामले आए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘नए मामलों के हिसाब से गुजरात 12 वें स्थान पर है। एक समय हमारे यहां मृत्यु दर देश में सबसे ज्यादा सात प्रतिशत थी। अब यह चार प्रतिशत है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारे यहां ठीक होने की दर 74 प्रतिशत है। अन्य राज्यों की तुलना में गुजरात की स्थिति बेहतर है।’’ 

इसे भी पढ़ें: गुजरात में कोरोना के 1,108 नये मामले, 24 और लोगों की मौत

उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल और मुख्य सचिव अनिल मुकिम के साथ रूपाणी ने राजकोट का दौरा किया। शहर और जिले के ग्रामीण इलाके में संक्रमण के बढ़ते मामलों की समीक्षा के लिए उन्होंने यहां का दौरा किया। राजकोट शहर से मंगलवार को 49 मामले आए और ग्रामीण इलाके से 30 मामले आए। मुख्यमंत्री ने कहा कि जांच बढ़ायी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर आगामी दिनों में राजकोट में अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या बढायी जाएगी। गुजरात में मंगलवार तक कोरोना वायरस के 57,982 मामले आए और 2372 लोगों की मौत हुई।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...